1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. Asaduddin Owaisi ने पूछा- संसद में पेगासस मुद्दे पर बहस से क्यों डर रही मोदी सरकार?

Asaduddin Owaisi ने पूछा- संसद में पेगासस मुद्दे पर बहस से क्यों डर रही मोदी सरकार?

AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी( AIMIM chief Asaduddin Owaisi) ने रविवार को कहा कि संसद (Parliament) में 'पेगासस' (Pegasus) पर बहस से क्यों डरती है सरकार? असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि आप क्या छिपाना चाहते हैं? उन्होंने कहा कि हम संसद चलाने को तैयार हैं लेकिन आप (सरकार) ऐसा नहीं चाहते हैं।

By संतोष सिंह 
Updated Date

नई दिल्ली। ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM)  के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी( AIMIM chief Asaduddin Owaisi) ने रविवार को कहा कि संसद (Parliament) में ‘पेगासस’ (Pegasus) पर बहस से क्यों डरती है सरकार? असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि आप क्या छिपाना चाहते हैं? उन्होंने कहा कि हम संसद चलाने को तैयार हैं लेकिन आप (सरकार) ऐसा नहीं चाहते हैं। असदुद्दीन ओवैसी ने तंज कसते हुए कहा कि आप (सरकार) केवल बिल पास करना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि क्या यही लोकतंत्र है? हमें अपने विचार रखने का मौका नहीं मिल रहा है।

पढ़ें :- अमित शाह के बयान पर ओवैसी का पलटवार,बोले- जब मजलूमों को इंसाफ मिलेगा, तब आएगा अमन

बता दें कि पेगासस जासूसी कांड(Pegasus Spyware Scandal) का मामला अब देश की सर्वोच्च अदालत सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में पहुंच गया है। इस मामले की निष्पक्ष जांच की मांग को लेकर वरिष्ठ पत्रकार एनराम और शशिकुमार, सीपीएम के राज्यसभा सांसद जॉन ब्रिटास (Rajya Sabha MP John Brittas) और वकील एमएल शर्मा ने कोर्ट में याचिका दाखिल की है। इस याचिका पर आगामी 5 अगस्त को सुनवाई होने वाली है। इस मामले की सुनवाई चीफ जस्टिस एनवी रमना और जस्टिस सूर्यकांत की बेंच करेगी।

पढ़ें :- असदुद्दीन ओवैसी कहा कि अगर किसी को फेंकना सीखना है, तो वह मोदी से सीखे, 2014 में 2 करोड़ नौकरी का वादा ,अब रहे हैं 10 लाख नौकरी

AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी तीन तलाक कानून (triple talaq law )   असंवैधानिक (unconstitutional) है। इसे सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी गई है। यह समानता के खिलाफ है, मुसलमानों को बदनाम करता है। उन्होंने कहा कि क्या मोदी सरकार केवल मुस्लिम महिला (अधिकार) दिवस (Muslim Women Rights Day) मनाएगी? हिंदू, दलित और ओबीसी (Hindu, Dalit & OBC women) महिलाओं के सशक्तिकरण (Women’s empowerment) के बारे में क्या?

असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) ने कहा कि इस कानून से मुस्लिम महिलाओं का और अधिक शोषण होगा। इससे उनकी समस्याओं में इजाफा होगा। केवल मामले दर्ज किए जाएंगे और कोई न्याय नहीं दिया जाएगा। मुसलमानों ने इसे धरातल पर स्वीकार नहीं किया।

 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...