1. हिन्दी समाचार
  2. अशोक गहलोत बोले- पायलट को लेनी चाहिए मेरे बेटे की हार की जिम्मेदारी

अशोक गहलोत बोले- पायलट को लेनी चाहिए मेरे बेटे की हार की जिम्मेदारी

Ashok Gehlot Says Sachin Pilot Should Take Responsibility Of Jodhpur Lok Sabha Seat Defeat

By रवि तिवारी 
Updated Date

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव में मिली करारी हार के बाद राजस्थान कांग्रेस में कुछ भी ठीक नहीं है। पार्टी के अंदर की गुटबाजी और लड़ाई उस वक्त सतह पर आ गई जब राज्य के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि पीसीसी चीफ और डिप्टी सीएम सचिन पायलट को उनके बेटे वैभव की हार की जिम्मेदारी लेनी चाहिए।

पढ़ें :- गेटवे ऑफ इंडिया पर स्पॉट हुए रणवीर और दीपिका, तसवीरों ने मचाया तहलका

सचिन पायलट ने गहलोत की टिप्पणी पर कोई प्रतिक्रिया देने से मना कर दिया। हालांकि, उन्होंने सीएम गहलोत के बयान पर हैरानगी जाहिर की।

एक निजी टीवी चैनल को दिए इंटरव्यू में गहलोत से पूछा गया कि क्या यह बात सच है कि जोधपुर सीट से वैभव को टिकट दिलाने के लिए पायलट ने ही सलाह दी थी? इस पर गहलोत ने कहा कि अगर पायलट ने ऐसा किया तो यह अच्छी बात है। इससे हम दोनों के बीच मतभेद की खबरें खारिज हो जाती हैं।

गहलोत ने कहा – ‘पायलट ने यह भी कहा था कि वैभव बड़े अंतर से जीत हासिल करेंगे, क्योंकि वहां हमारे 6 विधायक हैं और हमारी कैंपेनिंग अच्छी है। ऐसे में मुझे लगता है कि उन्हें वैभव के हार की जिम्मेदारी लेनी चाहिए। जोधपुर सीट पर पार्टी की हुई हार का पोस्टमार्टम होगा कि आखिर हम जीत दर्ज क्यों नहीं कर सके।’

गहलोत ने कहा है कि सचिन पायलट को भरोसा था कि जोधपुर में बड़े अंतर से जीत मिलेगी और चुनाव प्रचार भी अच्छा था, इसलिए मुझे लगता है कि उन्हें कम से कम उस सीट की जिम्मेदारी लेनी चाहिए।

पढ़ें :- किसान आंदोलन: MSP पर किसानों को भरोसा जरूरी, स्वदेशी जागरण मंच ने की मांग

उन्होंने कहा, ‘अगर कोई कहता है कि सीएम या पीसीसी प्रमुख को इसकी जिम्मेदारी लेनी चाहिए, तो मेरा मानना है कि यह एक सामूहिक जिम्मेदारी है।’ 6 महीने पहले ही राजस्थान में सरकार बनाने वाली कांग्रेस लोकसभा चुनाव में सभी 25 सीटें हार गई। वैभव गहलोत जोधपुर सीट गजेंद्र सिंह शेखावत से हार गए।

ये भी रिपोर्ट्स सामने आईं थीं कि नतीजों के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अशोक गहलोत पर नाराजगी जताई। नतीजों के बाद 25 मई को हुई कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक में राहुल गांधी ने राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के नामों का उल्लेख करते हुए कहा कि इन नेताओं ने पार्टी से ज्यादा अपने बेटों को महत्व दिया और उन्हीं को जिताने में लगे रहे।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...