1. हिन्दी समाचार
  2. बॉलीवुड
  3. Ashotosh Rana ने Mahashivratri पर गाया ‘शिव तांडव स्रोत, VIDEO ने तोड़े सारे रिकॉर्ड

Ashotosh Rana ने Mahashivratri पर गाया ‘शिव तांडव स्रोत, VIDEO ने तोड़े सारे रिकॉर्ड

बॉलीवुड दिग्गज एक्टर आशुतोष राणा (Ashotosh Rana) ने हाल ही में सोशल मीडिया पर महाशिवरात्रि के दिन शिव तांडव स्तोत्र रिलीज किया है। खास बात ये है कि ये स्तोत्र संस्कृत में था। जिसे फिल्म स्टार के दोस्त और कवि आलोक श्रीवास्तव (Poet Alok Srivastava) ने हिंदी में अनुवाद किया।

By आराधना शर्मा 
Updated Date

मुंबई: बॉलीवुड दिग्गज एक्टर आशुतोष राणा (Ashotosh Rana) ने हाल ही में सोशल मीडिया पर महाशिवरात्रि के दिन शिव तांडव स्तोत्र रिलीज किया है। खास बात ये है कि ये स्तोत्र संस्कृत में था। जिसे फिल्म स्टार के दोस्त और कवि आलोक श्रीवास्तव (Poet Alok Srivastava) ने हिंदी में अनुवाद किया। इस स्तोत्र को खुद आशुतोष राणा (Ashotosh Rana) ने अपनी आवाज में गाया है। ये वीडियो सोशल मीडिया पर खासा चर्चा में है।

पढ़ें :- Ashutosh Rana Birthday Special: कभी लोग आशुतोष भेजते थे धमकी भरी चिट्ठियां, आज ऐसे बने बॉलीवुड के सुपरस्टार

वीडियो में आशुतोष राणा (Ashotosh Rana) पूरी लय के साथ गाते हुए दिख रहे हैं। इस वीडियो को महाशिवरात्रि के खास मौके पर जारी किया गया है। इस बारे में कवि आलोक ने कहा, “शिव तांडव स्तोत्र, असुर राजा और शिव के भक्त रावण द्वारा लिखा गया था, जो संस्कृत में है और हमने इसका हिंदी में काव्यात्मक अनुवाद दिया है। तो यह विचार मेरे पास आशुतोष राणा लेकर आए।

क्योंकि हमने पहले भी एक दूसरे के साथ सहयोग किया है और उन्होंने मेरी बहुत सारी कविताएँ पढ़ी हैं जिनमें ‘बाबूजी’ और “मानुष्य” कविताएँ शामिल हैं, जिन्हें सोशल मीडिया पर लाखों व्यूज के साथ बहुत प्रशंसा मिली। इसलिए, हम महा शिवरात्रि की पूर्व संध्या पर इस नए सहयोग के साथ आए और इसे बड़े स्तर पर बनाने के लिए कैलाश खेर के स्टूडियो में इस ऑडियो वीडियो प्रोजेक्ट को रिकॉर्ड किया।” इस वीडियो को आप यहां देख सकते हैं।

आशुतोष राणा (Ashotosh Rana) ने आलोक की प्रशंसा करते हुए कहा, ‘उन्होंने हमेशा मेरी कविताओं का पाठ किया है, जिन्हें बहुत प्रशंसा मिली है। लेकिन यह पहली बार है जब हम इसे उचित ऑडियो और वीडियो के रूप में पेश कर रहे हैं। हम दोनों आध्यात्मिक रूप से भगवान शिव में दृढ़ विश्वास रखते हैं। हम 17 स्तोत्रों में से के 5 काव्य अनुवाद किए हैं| जब भी आप किसी महान या प्रख्यात कलाकार के साथ काम करते हैं तो आपका अनुभव भी बहुत अच्छा हो जाता है। क्योंकि आपको इतना एक्सपोजर और सीखने का मौका मिलता है। मुझे उनके काम से बहुत लगाव रहा है। साथ ही ऐसे कलाकार के साथ काम करने से आपको वैचारिक रूप से आगे बढ़ने में मदद मिलती है।’

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...