PM मोदी के ‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’ के पोस्टर में अलगाववादी नेता की तस्वीर

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर सरकार द्वारा ‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’ के पोस्टर में अलगाववादी नेता आसिया अंद्राबी की तस्वीर छापने के मामले ने विवाद खड़ा कर दिया है। ‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’ के पोस्टर में दुख्तारन-ए-मिल्लत की नेता आसिया की तस्वीर छापी गई थी। इस पोस्टर में आसिया के अलावा जम्मू एवं कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती, पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी, नोबेल पुरस्कार विजेता मदर टेरेसा और पुडुचेरी की उपराज्यपाल किरण बेदी की तस्वीर भी लगी है। आपको बता दें कि बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रमुख अभियानों में से एक है।

अनंतनाग जिले के ब्रांग ब्लॉक में सामाजिक कल्याण विभाग की चाइल्ड केयर शाखा द्वारा ‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’ अभियान के तहत इस पोस्टर को छापा गया है। समाज कल्याण विभाग के चाइल्ड विंग के कैंपेन के तहत यह पोस्टर बुधवार को एक समारोह में लगाए गए थे। इस दौरान कई पुलिस अधिकारी और स्थानीय अधिकारी मौजूद थे।

{ यह भी पढ़ें:- पटना यूनिवर्सिटी में पीएम मोदी ने दिया दिवाली का तोहफा, 20 यूनिवर्सिटी को दिया 10 हजार करोड़ का फंड }

कौन है आसिया अंद्राबी-

आसिया अंद्राबी जम्मू कश्मीर की अलगाववादी नेता हैं। आसिया 25 साल से जेल में बंद हिज्बुल आतंकी आशिक हुसैन की पत्नी हैं। आसिया पर कश्मीर में पत्थरबाजी के लिए उकसाने का आरोप है। इतना ही नहीं आसिया पर भारत विरोधी नारेबाजी में शामिल होने और कश्मीर में पाकिस्तान के झंडे फहराने का भी आरोप है। आसिया को आतंकी हाफिज सईद का करीबी माना जाता है। फिलहाल आसिया जन सुरक्षा कानून के तहत जेल में बंद है।

{ यह भी पढ़ें:- सीएम योगी ने राहुल गांधी को कहा 'भगोड़ा' }