अरुणाचल: असम राइफल्स के काफिले पर हमला, 2 जवान शहीद

गुवाहाटी| अरुणाचल प्रदेश में सेना के काफिले पर उग्रवादियों के घात लगाकर किए गए हमले में दो जवान शहीद हो गए और आठ अन्य घायल हो गए। माना जा रहा है कि ये उग्रवादी प्रतिबंधित नागा संगठन एनएससीएन-के के हैं। यह घटना अरुणाचल प्रदेश में भारत-म्यांमार सीमा पर हुई। असम राइफल्स के एक प्रवक्ता ने बताया कि यह हमला तिराप जिले में जिंनू गांव में हुई। यह सीमा से 20 की दूरी पर है।




प्रवक्ता ने कहा, “सैनिक 16 असम राइफल्स के थे और एक गश्त से लौट रहे थे। तभी हथियारों से लैस उग्रवादियों ने उन पर गोलियों की बौछार कर दी। उनमें एक जूनियर कमीशंड अधिकारी (जेसीओ) सहित दो लोगों की मौत हो गई और आठ अन्य घायल हो गए। घायलों में दो की हालत गंभीर बताई जाती है। प्रवक्ता ने कहा कि उस इलाके में और उग्रवादियों के खिलाफ कार्रवाई के लिए और सुरक्षा बलों को भेजा गया है।”

Assam Rifles Ambush On Assam Rifles Leaves 2 Dead :

प्रवक्ता ने कहा, “हम मानते हैं कि यह वार्ता विरोधी गुट नेशनलिस्ट सोशलिस्ट काउंसिल ऑफ नागालैंड-खापलांग (एनएससीएन-के) के उग्रवादियों का काम है, जिनकी तिराप जिले में अभी थोड़ी मौजूदगी है।” 19 नवंबर को एनएससीएन-के और यूनाईटेड लिबरेशन फ्रंट ऑफ असम (उल्फा) ने असम के तिनसुकिया जिले में सैनिकों पर हमला कर दिया था। उसमें तीन जवान शहीद हुए थे और चार घायल हो गए थे।



गुवाहाटी| अरुणाचल प्रदेश में सेना के काफिले पर उग्रवादियों के घात लगाकर किए गए हमले में दो जवान शहीद हो गए और आठ अन्य घायल हो गए। माना जा रहा है कि ये उग्रवादी प्रतिबंधित नागा संगठन एनएससीएन-के के हैं। यह घटना अरुणाचल प्रदेश में भारत-म्यांमार सीमा पर हुई। असम राइफल्स के एक प्रवक्ता ने बताया कि यह हमला तिराप जिले में जिंनू गांव में हुई। यह सीमा से 20 की दूरी पर है। प्रवक्ता ने कहा, "सैनिक 16 असम राइफल्स के थे और एक गश्त से लौट रहे थे। तभी हथियारों से लैस उग्रवादियों ने उन पर गोलियों की बौछार कर दी। उनमें एक जूनियर कमीशंड अधिकारी (जेसीओ) सहित दो लोगों की मौत हो गई और आठ अन्य घायल हो गए। घायलों में दो की हालत गंभीर बताई जाती है। प्रवक्ता ने कहा कि उस इलाके में और उग्रवादियों के खिलाफ कार्रवाई के लिए और सुरक्षा बलों को भेजा गया है।"प्रवक्ता ने कहा, "हम मानते हैं कि यह वार्ता विरोधी गुट नेशनलिस्ट सोशलिस्ट काउंसिल ऑफ नागालैंड-खापलांग (एनएससीएन-के) के उग्रवादियों का काम है, जिनकी तिराप जिले में अभी थोड़ी मौजूदगी है।" 19 नवंबर को एनएससीएन-के और यूनाईटेड लिबरेशन फ्रंट ऑफ असम (उल्फा) ने असम के तिनसुकिया जिले में सैनिकों पर हमला कर दिया था। उसमें तीन जवान शहीद हुए थे और चार घायल हो गए थे।