मुजफ्फरनगर : नसीमुद्दीन सिद्दीकी की चुनावी सभा में बिरयानी खाने को लेकर समर्थकों में मारपीट

nasimuddin siddiqui
मुजफ्फरनगर : नसीमुद्दीन सिद्दीकी की चुनावी सभा में बिरयानी खाने को लेकर समर्थकों में मारपीट

मुजफ्फरनगर। वैसे तो नेता वोटरों को लुभाने के लिए तरह—तरह के रास्त अख्तियार करते हैं, लेकिन मुजफ्फरनगर में कुछ ऐसा हुआ जो कोई सोंच भी नहीं सकता था। दऱअसल यहां कांग्रेस प्रत्याशी नसीमुद्दीन सिद्दीकी की चुनावी सभा में अचानक हंगामा और बवाल मच गया और लाठी डंडे चलने लगे। इस मारपीट में कई कांग्रेस समर्थक घायल हो गए। बता दें कि इतना बड़ा बवाल सिर्फ बिरयानी खाने के लिए हो गया।

Assassination Of Supporters For Eating Biryani In Naseemuddin Siddiquis Election Rally :

बता दें कि बिजनौर लोकसभा सीट से कांग्रेस प्रत्याशी नसीमुद्दीन सिद्दीकी की चुनावी सभा हो रही थी। घटना थाना ककरौली क्षेत्र के गांव टंडहेड़ा का है। जहां मौलाना जमील अहमद के आवास पर ही कांग्रेस प्रत्याशी के समर्थन कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। जहां हजारों की संख्या में समर्थक मौजूद थे।

यहां चुनाव आयोग की पाबंदी के बावजूद भी समर्थकों के लिए खाने की व्यवस्था की गई थी। सभा समाप्त होने के बाद भीड़ खाने की ओर दौड़ पड़ी। जिसमें बिरयानी खाने को लेकर पहले तो कार्यकर्ताओं में छीना झपटी हुई, फिर धक्का-मुक्की और फिर मारपीट के साथ लाठी-डंडे चल पड़े।
खास बात ये रही कि हंगामा मारपीट के बाद कार्यक्रम में आए नेता भी अपने-अपने वाहन लेकर फरार हो गये।

मुजफ्फरनगर। वैसे तो नेता वोटरों को लुभाने के लिए तरह—तरह के रास्त अख्तियार करते हैं, लेकिन मुजफ्फरनगर में कुछ ऐसा हुआ जो कोई सोंच भी नहीं सकता था। दऱअसल यहां कांग्रेस प्रत्याशी नसीमुद्दीन सिद्दीकी की चुनावी सभा में अचानक हंगामा और बवाल मच गया और लाठी डंडे चलने लगे। इस मारपीट में कई कांग्रेस समर्थक घायल हो गए। बता दें कि इतना बड़ा बवाल सिर्फ बिरयानी खाने के लिए हो गया।

बता दें कि बिजनौर लोकसभा सीट से कांग्रेस प्रत्याशी नसीमुद्दीन सिद्दीकी की चुनावी सभा हो रही थी। घटना थाना ककरौली क्षेत्र के गांव टंडहेड़ा का है। जहां मौलाना जमील अहमद के आवास पर ही कांग्रेस प्रत्याशी के समर्थन कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। जहां हजारों की संख्या में समर्थक मौजूद थे।

यहां चुनाव आयोग की पाबंदी के बावजूद भी समर्थकों के लिए खाने की व्यवस्था की गई थी। सभा समाप्त होने के बाद भीड़ खाने की ओर दौड़ पड़ी। जिसमें बिरयानी खाने को लेकर पहले तो कार्यकर्ताओं में छीना झपटी हुई, फिर धक्का-मुक्की और फिर मारपीट के साथ लाठी-डंडे चल पड़े।
खास बात ये रही कि हंगामा मारपीट के बाद कार्यक्रम में आए नेता भी अपने-अपने वाहन लेकर फरार हो गये।