विधानसभा चुनाव: सुबह 11 बजे तक नागालैंड में 37% वोटिंग

विधानसभा चुनाव: सुबह 11 बजे तक नागालैंड में 37% वोटिंग
विधानसभा चुनाव: सुबह 11 बजे तक नागालैंड में 37% वोटिंग

नई दिल्ली। नगालैंड की 60 सदस्यीय विधानसभा सीट के लिए मंगलवार को मतदान हो रहा है। पूर्वाह्न 11 बजे तक 37 % फीसदी से अधिक मतदान हुआ है। मुख्य निर्वाचन अधिकारी अभिजीत सिन्हा ने बताया कि तिजित निर्वाचन क्षेत्र में एक मतदान केंद्र पर बम विस्फोट में एक शख्स घायल हो गया और भीड़ ने वीवीपीएटी मशीन को नष्ट कर दिया।

Assembly Elections Voting For Nagaland Assembly :

उन्होंने कहा कि हालांकि, तिजित सीट के प्रभावित मतदान केंद्र पर मतदान प्रक्रिया बहाल हो गई है और शांतिपूर्ण मतदान हो रहा है। उन्होंने कहा, “कुछ छिटपुट घटनाओं की भी खबर है लेकिन अभी तक शांतिपूर्ण ढंग से मतदान हो रहा है और कुछ क्षेत्रों में लोग बढ़-चढ़कर मतदान कर रहे हैं।”तीन बार मुख्यमंत्री रहे नेशनलिस्ट डेमोक्रेटिक प्रोग्रेसिव पार्टी के नेफ्यू रियो को उत्तरी अंगामी-2 निर्वाचन सीट से निर्विरोध विजयी घोषित कर दिया गया।

इस सीट पर उनके प्रतिद्वंद्वी सत्तारूढ़ नगा पीपुल्स फ्रंट के उम्मीदवार चुपफ्यू अंगामी ने 12 फरवरी को अपना नामांकन वापस ले लिया था। नडीडीपी 40 में से 20 सीटों पर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के साथ मिलकर चुनाव लड़ रही है। निवर्तमान मुख्यमंत्री टी.आर.जेलियांग ने राज्य में एनपीएफ के सत्ता में रहने का विश्वास जताया है।

जेलियांग ने बताया, “हमें विश्वास है कि हम तीन मार्च को सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरेंगे। हम सत्ता में बने रहेंगे और सरकार का नेतृत्व जारी रखेंगे।” चुनाव में कुल 11,70,548 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे, जिनमें 5,89,806 महिलाएं हैं जबकि 26,900 पहली बार मतदान करने जा रहे हैं।  राज्य में कोई भी थर्ड जेंडर मतदाता नहीं है।

मुख्य निर्वाचन अधिकारी अभिजीत सिन्हा ने बताया, “राज्य में सुबह सात बजे मतदान शुरू होने से पहले ही कई मतदान केंद्रों पर महिलाओं और पुरुषों की लंबी-लंबी कतारें देखी गईं।” निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि 103 मतदान केंद्रों में मतदान का समय सुबह सात बजे से दोपहर तीन बजे तक है जबकि बाकी बचे 2,053 मतदान केंद्रों में मतदान का समय सुबह सात से शाम चार बजे है।उन्होंने बताया कि कुल 2,156 मतदान केंद्रों में से 1,062 संवेदनशील और 530 अतिसंवेदनशील है जबकि 564 को सामान्य श्रेणी में रखा गया है।

इस दौरान 15,000 से अधिक सरकारी कर्मचारियों को तैनात किया गया है और राज्य की 25 सीटों के 177 मतदान केंद्रों पर महिलाओं को ही तैनात किया गया है। सिन्हा ने बताया कि 55 चुनावी पर्यवेक्षक हैं, जिसमें 22-22 सामान्य और राजस्व पर्यवेक्षक और 11 पुलिस पर्यवेक्षक हैं। इसके अलावा 442 माइक्रो पर्यवेक्षक हैं। उन्होंने बताया कि मतदान के लिए वोटर वेरिफाएबल पेपर ऑडिट ट्रेल (वीवीपीएटी) मशीनों सहित इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनें लगाई गई हैं।

नई दिल्ली। नगालैंड की 60 सदस्यीय विधानसभा सीट के लिए मंगलवार को मतदान हो रहा है। पूर्वाह्न 11 बजे तक 37 % फीसदी से अधिक मतदान हुआ है। मुख्य निर्वाचन अधिकारी अभिजीत सिन्हा ने बताया कि तिजित निर्वाचन क्षेत्र में एक मतदान केंद्र पर बम विस्फोट में एक शख्स घायल हो गया और भीड़ ने वीवीपीएटी मशीन को नष्ट कर दिया।उन्होंने कहा कि हालांकि, तिजित सीट के प्रभावित मतदान केंद्र पर मतदान प्रक्रिया बहाल हो गई है और शांतिपूर्ण मतदान हो रहा है। उन्होंने कहा, "कुछ छिटपुट घटनाओं की भी खबर है लेकिन अभी तक शांतिपूर्ण ढंग से मतदान हो रहा है और कुछ क्षेत्रों में लोग बढ़-चढ़कर मतदान कर रहे हैं।"तीन बार मुख्यमंत्री रहे नेशनलिस्ट डेमोक्रेटिक प्रोग्रेसिव पार्टी के नेफ्यू रियो को उत्तरी अंगामी-2 निर्वाचन सीट से निर्विरोध विजयी घोषित कर दिया गया।इस सीट पर उनके प्रतिद्वंद्वी सत्तारूढ़ नगा पीपुल्स फ्रंट के उम्मीदवार चुपफ्यू अंगामी ने 12 फरवरी को अपना नामांकन वापस ले लिया था। नडीडीपी 40 में से 20 सीटों पर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के साथ मिलकर चुनाव लड़ रही है। निवर्तमान मुख्यमंत्री टी.आर.जेलियांग ने राज्य में एनपीएफ के सत्ता में रहने का विश्वास जताया है।जेलियांग ने बताया, "हमें विश्वास है कि हम तीन मार्च को सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरेंगे। हम सत्ता में बने रहेंगे और सरकार का नेतृत्व जारी रखेंगे।" चुनाव में कुल 11,70,548 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे, जिनमें 5,89,806 महिलाएं हैं जबकि 26,900 पहली बार मतदान करने जा रहे हैं।  राज्य में कोई भी थर्ड जेंडर मतदाता नहीं है।मुख्य निर्वाचन अधिकारी अभिजीत सिन्हा ने बताया, "राज्य में सुबह सात बजे मतदान शुरू होने से पहले ही कई मतदान केंद्रों पर महिलाओं और पुरुषों की लंबी-लंबी कतारें देखी गईं।" निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि 103 मतदान केंद्रों में मतदान का समय सुबह सात बजे से दोपहर तीन बजे तक है जबकि बाकी बचे 2,053 मतदान केंद्रों में मतदान का समय सुबह सात से शाम चार बजे है।उन्होंने बताया कि कुल 2,156 मतदान केंद्रों में से 1,062 संवेदनशील और 530 अतिसंवेदनशील है जबकि 564 को सामान्य श्रेणी में रखा गया है।इस दौरान 15,000 से अधिक सरकारी कर्मचारियों को तैनात किया गया है और राज्य की 25 सीटों के 177 मतदान केंद्रों पर महिलाओं को ही तैनात किया गया है। सिन्हा ने बताया कि 55 चुनावी पर्यवेक्षक हैं, जिसमें 22-22 सामान्य और राजस्व पर्यवेक्षक और 11 पुलिस पर्यवेक्षक हैं। इसके अलावा 442 माइक्रो पर्यवेक्षक हैं। उन्होंने बताया कि मतदान के लिए वोटर वेरिफाएबल पेपर ऑडिट ट्रेल (वीवीपीएटी) मशीनों सहित इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनें लगाई गई हैं।