दुश्मनों से बचने के लिए राशि के अनुसार करें ये उपाय

मानव के जीवन में मित्र भी होते हैं और शत्रु भी . कई बार हम ऐसी गलतियां कर जाते हैं जिससे हमारे दुश्मन बन जाते हैं. हम आपको कई ऐसे उपाय बताएंगे जिससे आपके दुश्मन पैदा ही ना हों या फिर अगर पैदा हो गए हैं तो उनसे कैसे बचा जाए.

मेष: आम तौर मेष राशि वालों के शत्रु नहीं होते हैं. अगर इनके शत्रु होते हैं तो इसकी वजह धन हो सकती है. शत्रुओं को कम करने के लिए धन के लेन-देन में पूरी लिखा-पढ़ी रखनी चाहिए, साथ ही बुधवार को गणेश जी को दूर्वा अर्पित करें.

{ यह भी पढ़ें:- जानें सोलह सोमवार व्रत की क्या है महिमा, पढ़ें कथा }

वृष: इनके स्वभाव और वाणी के कारण इनके शत्रु बन जाते हैं, इनकी शत्रुता भी इनकी जिद के चलते बहुत लंबी चलती है. शत्रुता कम करने के लिए अपने क्रोध और जिद्दी स्वभाव का त्याग करें जिससे आपके शत्रु कम होंगे.

मिथुन: राशि वाले क्रोधी होते हैं और तुनकमिजाजी होते हैं इसलिए जल्दी ही इनकी शत्रुता हो जाती है. हालांकि इनकी शत्रुता जल्दी ही खत्म हो जाती है. शत्रुता ना हो इसके लिए तुरंत प्रतिक्रिया देने से बचें. मंगलवार को हनुमान जी के दर्शन जरूर करें.

कर्क: राशि वालों क बहुत गुप्त शत्रु होते हैं लेकिन इनके व्यक्तित्व की वजह से शत्रु इनका कुछ बिगाड़ नहीं पाते हैं. शत्रुता कम करने के लिए भावनाओं के चक्कर में पड़ने से बचें. हर गुरुवार को पीला तिलक लगाएं.

सिंह: राशि के शत्रु बहुत ताकतवर होते हैं. इनकी शत्रुता और मित्रता दोनों ही भारी होती हैं. इन्हें हर बात को गंभीर होने से बचना चाहिए. साथ ही साथ पीपल के पेड़ के नीचे सरसों के तेल का एक दीपक भी जलाना चाहिए.

कन्या: कन्या राशि वाले जल्दी अपने शत्रु नहीं बनने देते हैं. ये अपनी बुद्धिमानी से शत्रुओं को नियंत्रित कर लेते हैं.  इन्हें अपने शत्रुओं से बचने के लिए संतुलित व्यवहार करना चाहिए. शनिवार के दिन नीले रंग के वस्त्र पहनना शुरू कर दें.

तुला:  आम तौर पर तुला राशि वाले शत्रु नहीं बनाते हैं. इन्हें शत्रुओं की बहुत परवाह भी नहीं होती है. तुला राशि वालों को हमेशा शत्रुओं से सतर्क रहना चाहिए खासकर मामला अगर प्रेम का हो तो इनके गुप्त शत्रु हो जाते हैं. हर गुरुवार को पीले रंग का फूल अर्पित कीजिए. ऐसा करने से आपके विरोधी शांत हो जाएंगे.

वृश्चिक: इनके बहुत गुप्त शत्रु होते हैं. इनकी बदला लेने की आदत होती है. क्रोध पर काबू रखें. तुरंत किसी बात पर प्रतिक्रिया देने से बचें.  दुश्मनों को शांत रखने के लिए मंगलवार को हनुमान भगवान की पूजा करें.

धनु: इस राशि के लोग हमेशा झगड़े करके खुद ही अपनी शत्रु बनाते रहते हैं. झगड़े से बचें. शिवलिंग पर सफेद फूल अर्पित करिए. शत्रु और विरोधी शांत होंगे.

मकर: इस राशि वालों के ना बहुत ज्यादा शत्रु होते हैं और ना ही बहुत मित्र होते हैं. अगर शत्रु होते हैं तो ये बुद्धिमानी से परास्त कर देते हैं. आपको बहुत ज्यादा राजनीति करने से बचना चाहिए. हर बुधवार को कृष्णजी को तुलसी दल अर्पित करें.

कुंभ: इस राशि के शत्रु कम होते हैं लेकिन जो होते हैं बहुत शक्तिशाली होते हैं. करीब के लोग ज्यादा नुकसान पहुंचाते हैं इनसे सावधान रहें. सोमवार को भगवान शिव को जल अर्पित करने से सभी शत्रु परास्त होंगे

मीन: मीन राशि के लोग शत्रुता और मित्रता दोनों बहुत नहीं निभा पाते हैं. शत्रु आपके मित्र बने रहें और मित्र आपके शत्रु ना बनें इसके लिए दोनों ही बहुत ताकतवर होते हैं.

Loading...