पाकिस्तान में नहीं थम रहा है अल्पसंख्यको पर अत्याचार, 14 साल की बच्ची को अगवा कर जबरन की शादी

pak girl
पाकिस्तान में नहीं थम रहा है अल्पसंख्यको पर अत्याचार, 14 साल की बच्ची को अगवा कर जबरन की शादी

नई दिल्ली। पाकिस्तान (Pakistan) में अल्पसंख्यक महिलाओं के साथ अत्याचार रुकने का नाम नहीं ले रहा है। ताजा मामला कराची का है जहां 14 साल ही ईसाई किशोरी हुमा यूनुस का पहले अपहरण किया गया फिर जबरन धर्म परिवर्तन कराकर उसे अपहृत करने के आरोपी अब्दुल जब्बार से ही उसकी शादी करा दी गई।

Atrocities On Minorities Are Not Stopping In Pakistan Forced Marriage By Kidnapping 14 Year Old Girl :

जानकारी के अनुसार, आठवीं कक्षा में पढ़ने वाली हुमा को डेरा गाजी खान ले जाया गया, उसका धर्म परिवर्तन कराने और शादी के कागज उसके माता-पिता के पास भेजे गए हैं। यह मामला फिलहाल अदालत में है। पाकिस्तान की पत्रकार ने इस संबंध में ट्वीट भी किया है।

एक अदालत में सुनवाई के बाद हुमा की मां नगीना यूनुस ने सवाल किया कि क्या पाकिस्तान में अपहरण और धर्म परिवर्तन ही उनका भविष्य है। अगर ऐसा ही है तो क्या ईसाई माताओं को अपनी बेटियों को मार देना चाहिए? उन्होंने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान, बिलावल भुट्टो और सेना प्रमुख से मदद की गुहार भी लगाई है।

नई दिल्ली। पाकिस्तान (Pakistan) में अल्पसंख्यक महिलाओं के साथ अत्याचार रुकने का नाम नहीं ले रहा है। ताजा मामला कराची का है जहां 14 साल ही ईसाई किशोरी हुमा यूनुस का पहले अपहरण किया गया फिर जबरन धर्म परिवर्तन कराकर उसे अपहृत करने के आरोपी अब्दुल जब्बार से ही उसकी शादी करा दी गई। जानकारी के अनुसार, आठवीं कक्षा में पढ़ने वाली हुमा को डेरा गाजी खान ले जाया गया, उसका धर्म परिवर्तन कराने और शादी के कागज उसके माता-पिता के पास भेजे गए हैं। यह मामला फिलहाल अदालत में है। पाकिस्तान की पत्रकार ने इस संबंध में ट्वीट भी किया है। एक अदालत में सुनवाई के बाद हुमा की मां नगीना यूनुस ने सवाल किया कि क्या पाकिस्तान में अपहरण और धर्म परिवर्तन ही उनका भविष्य है। अगर ऐसा ही है तो क्या ईसाई माताओं को अपनी बेटियों को मार देना चाहिए? उन्होंने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान, बिलावल भुट्टो और सेना प्रमुख से मदद की गुहार भी लगाई है।