1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. ATS ने साढ़े चार साल में 69 terrorists और 216 आरोपियों को भेजा जेल

ATS ने साढ़े चार साल में 69 terrorists और 216 आरोपियों को भेजा जेल

सीएम योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने प्रदेश में आतंकी गतिविधियों के प्रभावी रोकथाम के लिए बड़ी पहल की है। उन्होंने प्रदेश में पहली बार एक साथ एटीएस की 12 इकाइयों की स्थापना की संस्तुति की है।

By आराधना शर्मा 
Updated Date

लखनऊ: सीएम योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने प्रदेश में आतंकी गतिविधियों के प्रभावी रोकथाम के लिए बड़ी पहल की है। उन्होंने प्रदेश में पहली बार एक साथ एटीएस की 12 इकाइयों की स्थापना (Establishment of 12 units) की संस्तुति की है। साथ ही एटीएस को और मजबूत करने के लिए प्रस्ताव मांगा है, आशा है कि जल्द ही एटीएस को और अत्याधुनिक संसाधनों (state-of-the-art resources) से लैस किया जाएगा और समुचित मानव संसाधन (Adequate Human Resources) उपलब्ध कराया जाएगा।

पढ़ें :- यूपी: राज्य कर्मचारियों को दिवाली से पहले योगी सरकार देगी बोनस व महंगाई भत्ते का तोहफा

प्रदेश के संवेदनशील 10 जिलों मेरठ (Meerut), अलीगढ़ (Aligarh), श्रावस्ती (Shravasti), बहराइच ( Bahraich), ग्रेटर नोएडा (Greater Noida) (जेवर एयरपोर्ट) (Jewar Airport), आजमगढ़ (निकट एयरपोर्ट), कानपुर, सोनभद्र, मीरजापुर और सहारनपुर के देवबंद में एटीएस इकाई/कमाण्डो ट्रेनिंग सेंटर स्थापित किया जाएगा। इसके लिए संबंधित जिलों में भूमि आवंटित हो गई है और भवनों के निर्माण के लिए कार्यवाही चल रही है।

इसके अलावा वाराणसी और झांसी में एटीएस इकाई की स्थापना के (Setting up of ATS Unit) लिए जल्द ही भूमि आवंटन होने की संभावना है। शासन के निर्देशानुसार एटीएस को और अधिक प्रभावशाली बनाने के लिए इंडो-नेपाल बॉर्डर (Indo-Nepal border) पर बहराइच और श्रावस्ती में एटीएस की नई फील्ड यूनिट स्थापित की जा चुकी है और कार्य सुचारु रूप से चल रहा है।

एटीएस आतंकी मंसूबों पर फेर रहा पानी

एटीएस ने विभिन्न आतंकवादी संगठनों आईएसआईएस, हिजबुल मुजाहिद्दीन, जैश-ए-मोहम्मद, जेएमबी, आईएसआई जासूस, पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई), नक्सल, टेरर फंडिंग, एबीटी/बांग्लादेश, बब्बर खालसा, जाली भारतीय मुद्रा आदि से सम्बन्धित 69 आतंकवादियों, विभिन्न अपराधों से संबंधित 216 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। इसके अलावा मूक बधिर छात्रों, कमजोर आय वर्ग के लोगों को धन, नौकरी और शादी का लालच देकर धर्मांतरण कराने वाले सिंडिकेट का भंडाफोड़ करते हुए कई आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है।

इसके अलावा 16 जनवरी को एटीएस ने कूट रचित प्रपत्रों के आधार पर भारी मात्रा में फर्जी मोबाईल सिम एक्टीवेट कराने से संबंधित 18 आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेजा है, जिसमें तीन चीनी नागरिक भी शामिल हैं। यह मामला आर्थिक घोटाले के साथ-साथ राष्ट्र विरोधी गतिविधियों से जुड़ा है, जिसकी गहराई से जांच हो रही है।

पढ़ें :- CM Yogi की सुरक्षा में बड़ी चूक: रिवॉल्वर लेकर एवेंट में घुसा शख्स, 4 पुलिसकर्मी सस्पेंड

खतरनाक ऑपरेशन के लिए स्पॉट की पांच टीमें और स्नाईपर्स की चार टोलियां तैयार प्रदेश में एनएसजी की तरह खतरनाक ऑपरेशन को विशेषज्ञ तरीके से करने के लिए एटीएस के विशेष पुलिस संचालन दल (स्पॉट) का गठन 2017 में किया गया है। स्पॉट कर्मियों ने बीएसएफ, सीआरपीएफ, सीआईएसएफ, आईटीबीपी आदि पुलिस के विशेषज्ञ प्रशिक्षकों से प्रशिक्षण लिया है।

स्पॉट की पांच टीमें तैयार हैं, दो टीमें प्रशिक्षण ले रही हैं और दो अन्य टीमों के लिए कार्यवाही चल रही है। इसके अलावा यूपी पुलिस की पहली स्नाईपर्स टीम की चार टोलियां तैयार की गई हैं, जिसे राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड (एनएसजी) ने प्रशिक्षण दिया है। इसके बाद यूपी पुलिस की दक्षता और प्रभावशीलता में अभूतपूर्व वृद्धि हुई है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...