मुसीबत बनती जा रही है ठंड, कानपुर देहात में 7 लोगों की गई जान

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में पिछले एक सप्ताह से लगातार बढ़ रही ठंड अब लोगों के लिए मुसीबत बनती जा रही है। सर्दी के कहर के चलते अटैक ने शहर समेत कानपुर देहात में सात लोगों की जान ले ली है। सर्दी के चलते ठंड की चपेट में शास्त्री नगर निवासी प्रशांत कुमार, साकेत नगर की रानी, शुक्लागंज के दुलारे लाल, चमनगंज के अब्दुल कलाम और कल्याणपुर के शिवनारायण की मौत हो गई।




अस्पताल में हृदय रोगियों की संख्या बढ़ने से कार्डियोलॉजी अस्पताल के वार्ड भरे है तो ओपीडी में मरीजों का तांता लगा हुआ हैं। सांस, बीपी के रोगी भी बढ़ रहे हैं। कार्डियक सर्जन डॉ. राकेश वर्मा के अनुसार मरीजों की संख्या में दिन प्रतिदिन बढ़ोत्तरी होने पर इमरजेंसी में सतर्कता बढ़ा दी गई है। झींझक में ठंड की चपेट में आने से डेरापुर तहसील क्षेत्र के भूठा गांव में विशंभर की मौत हो गई।




पत्नी फूलमती ने बताया कि शाम को बकरी चराकर लौटे। इसके बाद शरीर कांपने के साथ पेट में दर्द उठा और कुछ देर बाद मौत हो गई। उधर, औरंगाबाद गांव निवासी राजीव गुप्ता ने बताया कि पिता रामबाबू सुबह खेत के लिए निकले थे। घर लौटने पर हालत बिगड़ गई और मौत हो गई। जबकि, बच्चों में निमोनिया, कोल्ड डायरिया के मामले बढ़ रहे हैं। डॉक्टरों ने इस मौसम में ठंड से बचने के लिए पर्याप्त संख्या में गर्म कपड़े पहनने, मार्निंग वाक न करने, सुबह बिस्तर से उठकर सीधे खुले में न निकलने की सलाह दी है।