कोरोना वायरस: राहुल गांधी ने केंद्र पर साधा निशाना, कहा-इस संकट से निपटने के लिए कार्य योजना करें सार्वजनिक

rahul gandhi

नई दिल्ली। कोरोना वायरस की देश में एंट्री होने के बाद से सरकार अलर्ट पर है। वहीं, विपक्ष इसको लेकर सरकार को घेर रही है। इस बीच कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने केंद्र सरकार पर निशाना साधा है। वहीं, गुरुवार को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने संसद के दोनों सदनों में वायरस को लेकर बयान दिया था। जिसपर हमला करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि सरकार इस संकट से निपटने के लिए कार्य योजना बनाकर उसे सार्वजनिक करे।

Attack On Central Government Union Minister Dr Harsh Vardhan Modi Government Congress Bjp :

राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा है कि, ‘स्वास्थ्य मंत्री कह रहे हैं कि भारत सरकार के तहत कोरोना वायरस नियंत्रित है। यह उसी तरह है कि टाइटैनिक का कैप्टन यात्रियों से कह रहा हो कि घबराइए नहीं क्योंकि यह जहाज डूब नहीं सकता। अब समय है कि सरकार इस संकट से निपटने के लिए ठोस संसाधनों के जरिए एक कार्ययोजना बनाए और उसे सार्वजनिक करे।’

बता दें कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने गुरुवार को कोरोनो वायरस को लेकर कहा है कि देश में अब तक 29 मामलों की पुष्टि हो चुकी है, इनमें केरल के वे तीन लोग भी शामिल हैं जिनमें पिछले महीने इसके संक्रमण की पुष्टि हुई थी और स्वस्थ्य होने के बाद उन्हें अस्पताल से छुट्टी भी मिल गई है।

नई दिल्ली। कोरोना वायरस की देश में एंट्री होने के बाद से सरकार अलर्ट पर है। वहीं, विपक्ष इसको लेकर सरकार को घेर रही है। इस बीच कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने केंद्र सरकार पर निशाना साधा है। वहीं, गुरुवार को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने संसद के दोनों सदनों में वायरस को लेकर बयान दिया था। जिसपर हमला करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि सरकार इस संकट से निपटने के लिए कार्य योजना बनाकर उसे सार्वजनिक करे। राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा है कि, 'स्वास्थ्य मंत्री कह रहे हैं कि भारत सरकार के तहत कोरोना वायरस नियंत्रित है। यह उसी तरह है कि टाइटैनिक का कैप्टन यात्रियों से कह रहा हो कि घबराइए नहीं क्योंकि यह जहाज डूब नहीं सकता। अब समय है कि सरकार इस संकट से निपटने के लिए ठोस संसाधनों के जरिए एक कार्ययोजना बनाए और उसे सार्वजनिक करे।' बता दें कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने गुरुवार को कोरोनो वायरस को लेकर कहा है कि देश में अब तक 29 मामलों की पुष्टि हो चुकी है, इनमें केरल के वे तीन लोग भी शामिल हैं जिनमें पिछले महीने इसके संक्रमण की पुष्टि हुई थी और स्वस्थ्य होने के बाद उन्हें अस्पताल से छुट्टी भी मिल गई है।