नागरिकता संशोधन बिल को लेकर विपक्ष हमलावर, राहुल बोले-मैं पूर्वोत्तर के लोगों के साथ खड़ा

rahul gandhi
नागरिकता संशोधन बिल को लेकर विपक्ष मोदी सरकार पर हमलावर, राहुल बोले-मैं पूर्वोत्तर के लोगों के साथ खड़ा

नई दिल्ली। नागरिकता संशोधन बिल को लेकर कांग्रेस मोदी सरकार पर हमलावर है। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने बुधवार को कहा कि बीजेपी सरकार नागरिकता संशोधन विधेयक के माध्यम से पूर्वोत्तर के नस्लीय सफाए का प्रयास कर रही है। उन्होंने कहा कि वह पूर्वोत्तर की जनता के साथ खड़े हैं। वहीं, इस बिल का पूर्वोत्तर के राज्यों में जमकर विरोध हो रहा है। कई जगह इस बिल को लेकर आगजनी की भी घटनाएं सामने आयीं हैं।

Attack On Opposition Modi Government Over Citizenship Amendment Bill Rahul Said I Stand With The People Of Northeast :

राहुल गांधी ने नागरिकता संशेधन बिल को लेकर ट्वीट किया है। जिसमें कहा है कि, ‘नागरिकता विधेयक मोदी-शाह सरकार की ओर से पूर्वोत्तर के नस्लीय सफाए का प्रयास है। यह पूर्वोत्तर के लोगों, उनकी जीवन पद्धति और भारत के विचार पर हमला है।’

उन्होंने कहा कि मैं पूर्वोत्तर के लोगों के साथ खड़ा हूं और उनकी सेवा के लिए हाजिर हूं।’ वहीं, इस विधेयक को आज चर्चा और पारित कराने के मकसद से राज्यसभा में लाया जाएगा। कांग्रेस इस विधेयक को असंवैधानिक करार देते हुए इसका विरोध कर रही है।

बता दें कि, लोकसभा में सोमवार रात यह विधेयक पास हुआ था, जिसमें अफगानिस्तान, बांग्लादेश और पाकिस्तान से धार्मिक प्रताड़ना के कारण भारत आए हिंदू, सिख, बौद्ध, जैन, पारसी और ईसाई समुदायों के लोगों को भारतीय नागरिकता के लिए आवेदन करने का पात्र बनाने का प्रावधान है।

नई दिल्ली। नागरिकता संशोधन बिल को लेकर कांग्रेस मोदी सरकार पर हमलावर है। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने बुधवार को कहा कि बीजेपी सरकार नागरिकता संशोधन विधेयक के माध्यम से पूर्वोत्तर के नस्लीय सफाए का प्रयास कर रही है। उन्होंने कहा कि वह पूर्वोत्तर की जनता के साथ खड़े हैं। वहीं, इस बिल का पूर्वोत्तर के राज्यों में जमकर विरोध हो रहा है। कई जगह इस बिल को लेकर आगजनी की भी घटनाएं सामने आयीं हैं। राहुल गांधी ने नागरिकता संशेधन बिल को लेकर ट्वीट किया है। जिसमें कहा है कि, 'नागरिकता विधेयक मोदी-शाह सरकार की ओर से पूर्वोत्तर के नस्लीय सफाए का प्रयास है। यह पूर्वोत्तर के लोगों, उनकी जीवन पद्धति और भारत के विचार पर हमला है।' उन्होंने कहा कि मैं पूर्वोत्तर के लोगों के साथ खड़ा हूं और उनकी सेवा के लिए हाजिर हूं।' वहीं, इस विधेयक को आज चर्चा और पारित कराने के मकसद से राज्यसभा में लाया जाएगा। कांग्रेस इस विधेयक को असंवैधानिक करार देते हुए इसका विरोध कर रही है। बता दें कि, लोकसभा में सोमवार रात यह विधेयक पास हुआ था, जिसमें अफगानिस्तान, बांग्लादेश और पाकिस्तान से धार्मिक प्रताड़ना के कारण भारत आए हिंदू, सिख, बौद्ध, जैन, पारसी और ईसाई समुदायों के लोगों को भारतीय नागरिकता के लिए आवेदन करने का पात्र बनाने का प्रावधान है।