दिल्ली में चार नवंबर से फिर लागू होगा ऑड-ईवन

Arvind kejariwal
केजरीवाल का BJP पर हमला- MCD और पुलिस को नहीं करने देती काम, हम बना सकते हैं दोनो को बेहतर

नई दिल्ली। बढ़ते प्रदूषण को रोकने के लिए दिल्ली सरकार एक बार फिर ऑड-ईवन लागू करने जा रही है। दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने 4 से 15 नवंबर तक एक बार फिर ऑड-ईवन फॉर्मूला लागू करने का ऐलान किया है। इसके साथ ही दिल्ली सरकार ने कई और कदम उठाए हैं जिसे पराली एक्शन प्लान नाम दिया है। इस एक्शन प्लान के तहत उन्होंने 7 बिन्दु सुझाए हैं।

Aud Even Will Be Implemented In Delhi From November 4 :

बता दें कि दिल्ली सरकार ने राजधानी से प्रदूषण कम करने के लिए इतना बड़ा फैसला किया है। इसके तहत एक दिन ऑड जैसे 0, 2,4, 6, 8 के अंत वाले नंबर की गाड़ियां चलेंगी। फिर अगले दिन ईवन जैसे 1,3,5, 7, 9 के अंतिम वाले नंबर की गाड़ियां सड़क पर चलेंगी।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली सचिवालय में आयोजित एक प्रेसवार्ता में कहा कि आने वाले नवंबर में पड़ोसी राज्यों से पराली जलने से उठा धुआं दिल्ली के आसमरन में छा जाता है। ऐसे में क्या किया जा सकता है। इस पर दिल्लीवासियों की राय मांगी गई थी। अब तक 1200 सुझाव आए हैं। जिसके बाद 7 प्वाइंट का एजेंडा तैयार किया गया है।

4 नवंबर से 15 नवंबर तक ऑड ईवन लागू होगा। दिल्ली में लोगों को दीपावली पर पटाखे नही छोड़ने के लिए प्रेरित किया जाएगा। प्रदूषण मुक्त दिवाली के लिए छोटी दिवाली को दिल्ली सरकार बड़ा लेजर शो आयोजित करेगी। फ्री एंट्री होगी। सरकार का मानना है कि इसके बाद लोग पटाखे नहीं जलाएंगे। लोगों को प्रदूषण से बचने के लिए मास्क बांटे जाएंगे। दिल्ली में 12 स्थानों पर प्रदूषण का स्तर काफी अधिक है। इनके लिए अलग से एक्शन प्लान बनेगा। दिल्लीवासियों को पेड़ लगाने के लिए प्रेरित किया जाएगा।

सीएम केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में प्राइवेट बसों को प्रोत्साहित करने के लिए नीति लागू होगी। इससे बसों की संख्या बढ़ेगी। दिल्ली सरकार 10 माह के अंदर 4000 बसें स्वयं लेकर आएगी। इलेक्टिक वाहन नीति जल्द लागू होगी। यातायात चालान की राशि कम किए जाने के बारे में केजरीवाल ने कहा कि हम इस पर नज़र रखे हुए हैं। हम इस बारे में जरूर विचार करेंगे।

नई दिल्ली। बढ़ते प्रदूषण को रोकने के लिए दिल्ली सरकार एक बार फिर ऑड-ईवन लागू करने जा रही है। दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने 4 से 15 नवंबर तक एक बार फिर ऑड-ईवन फॉर्मूला लागू करने का ऐलान किया है। इसके साथ ही दिल्ली सरकार ने कई और कदम उठाए हैं जिसे पराली एक्शन प्लान नाम दिया है। इस एक्शन प्लान के तहत उन्होंने 7 बिन्दु सुझाए हैं। बता दें कि दिल्ली सरकार ने राजधानी से प्रदूषण कम करने के लिए इतना बड़ा फैसला किया है। इसके तहत एक दिन ऑड जैसे 0, 2,4, 6, 8 के अंत वाले नंबर की गाड़ियां चलेंगी। फिर अगले दिन ईवन जैसे 1,3,5, 7, 9 के अंतिम वाले नंबर की गाड़ियां सड़क पर चलेंगी। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली सचिवालय में आयोजित एक प्रेसवार्ता में कहा कि आने वाले नवंबर में पड़ोसी राज्यों से पराली जलने से उठा धुआं दिल्ली के आसमरन में छा जाता है। ऐसे में क्या किया जा सकता है। इस पर दिल्लीवासियों की राय मांगी गई थी। अब तक 1200 सुझाव आए हैं। जिसके बाद 7 प्वाइंट का एजेंडा तैयार किया गया है। 4 नवंबर से 15 नवंबर तक ऑड ईवन लागू होगा। दिल्ली में लोगों को दीपावली पर पटाखे नही छोड़ने के लिए प्रेरित किया जाएगा। प्रदूषण मुक्त दिवाली के लिए छोटी दिवाली को दिल्ली सरकार बड़ा लेजर शो आयोजित करेगी। फ्री एंट्री होगी। सरकार का मानना है कि इसके बाद लोग पटाखे नहीं जलाएंगे। लोगों को प्रदूषण से बचने के लिए मास्क बांटे जाएंगे। दिल्ली में 12 स्थानों पर प्रदूषण का स्तर काफी अधिक है। इनके लिए अलग से एक्शन प्लान बनेगा। दिल्लीवासियों को पेड़ लगाने के लिए प्रेरित किया जाएगा। सीएम केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में प्राइवेट बसों को प्रोत्साहित करने के लिए नीति लागू होगी। इससे बसों की संख्या बढ़ेगी। दिल्ली सरकार 10 माह के अंदर 4000 बसें स्वयं लेकर आएगी। इलेक्टिक वाहन नीति जल्द लागू होगी। यातायात चालान की राशि कम किए जाने के बारे में केजरीवाल ने कहा कि हम इस पर नज़र रखे हुए हैं। हम इस बारे में जरूर विचार करेंगे।