राजस्थान: दशहरे पर तनाव के बाद मालपुरा में कर्फ्यू, इंटरनेट सेवा बंद

राजस्थान: दशहरे पर तनाव के बाद मालपुरा में कर्फ्यू, इंटरनेट बंद
राजस्थान: दशहरे पर तनाव के बाद मालपुरा में कर्फ्यू, इंटरनेट बंद

जयपुर। राजस्थान के टोंक जिले के मालपुरा कस्बे में प्रशासन ने बुधवार सुबह 6:00 बजे से कर्फ्यू लगा दिया है। दरअसल कल यानि दशहरा में जुलूस के दौरान पथराव के बाद इलाके में हालात काफी बिगड़ गए। जब आरएसी चौकी के पास से दशहरा जुलूस गुजर रहा था तो दशहरा जुलूस का फूलों से स्वागत किया जा रहा था उसी दौरान जुलूस पर पथराव शुरू कर दिया और मौके पर भगदड़ मच गई।

Awantipora Encounter Two Let Terrorists Killed In Jammu Kashmir :

इस पूरे मंजर से नाराज मालपुरा के विधायक कन्हैयालाल डेढ़ सौ लोगों के साथ धरने पर बैठ गए। इन लोगों ने कल मालपुरा में रावण दहन भी नहीं होने दिया। उनका कहना था कि जब तक पथराव करने वाले आरोपियों को गिरफ्तार नहीं किया जाएगा तब तक रावण दहन नहीं होने देंगे। ऐसे में
प्रशासन ने सूझबूझ से काम किया लिहाजा नगरपालिका कर्मचारियों के साथ मिलकर सुबह 4:30 बजे रावण दहन कर दिया और 6:00 बजे से कर्फ्यू लगा दिया है। हालांकि अभी भी थाने के बाहर विधायक धरने पर बैठे हुए हैं।

पुलिस का दावा है कि हमने 6-7 लोगों को हिरासत में लिया है। पूरे मामले की जांच कर रहे हैं थाने के अंदर कलेक्टर और एसपी ही मौजूद हैं जयपुर से अतिरिक्त पुलिस बल भी बुला लिया गया है।

जयपुर। राजस्थान के टोंक जिले के मालपुरा कस्बे में प्रशासन ने बुधवार सुबह 6:00 बजे से कर्फ्यू लगा दिया है। दरअसल कल यानि दशहरा में जुलूस के दौरान पथराव के बाद इलाके में हालात काफी बिगड़ गए। जब आरएसी चौकी के पास से दशहरा जुलूस गुजर रहा था तो दशहरा जुलूस का फूलों से स्वागत किया जा रहा था उसी दौरान जुलूस पर पथराव शुरू कर दिया और मौके पर भगदड़ मच गई। इस पूरे मंजर से नाराज मालपुरा के विधायक कन्हैयालाल डेढ़ सौ लोगों के साथ धरने पर बैठ गए। इन लोगों ने कल मालपुरा में रावण दहन भी नहीं होने दिया। उनका कहना था कि जब तक पथराव करने वाले आरोपियों को गिरफ्तार नहीं किया जाएगा तब तक रावण दहन नहीं होने देंगे। ऐसे में प्रशासन ने सूझबूझ से काम किया लिहाजा नगरपालिका कर्मचारियों के साथ मिलकर सुबह 4:30 बजे रावण दहन कर दिया और 6:00 बजे से कर्फ्यू लगा दिया है। हालांकि अभी भी थाने के बाहर विधायक धरने पर बैठे हुए हैं। पुलिस का दावा है कि हमने 6-7 लोगों को हिरासत में लिया है। पूरे मामले की जांच कर रहे हैं थाने के अंदर कलेक्टर और एसपी ही मौजूद हैं जयपुर से अतिरिक्त पुलिस बल भी बुला लिया गया है।