इस दिवाली अपना ही रिकॉर्ड तोड़ेगी राम नगरी, जाने इस बार क्या है खास

इस दिवाली अपना ही रिकॉर्ड तोड़ेगी राम नगरी, जाने इस बार क्या है खास
इस दिवाली अपना ही रिकॉर्ड तोड़ेगी राम नगरी, जाने इस बार क्या है खास

लखनऊ। दिवाली के त्योहार में अब चंद दिन ही रह गए हैं और राम नगरी यानि अयोध्या को जगमग करने के लिए योगी सरकार भी पूरी तैयारी में जुट गई है। इस बार राम की पैड़ी पर ही दीये नहीं जलेंगे बल्कि पूरी रामनगरी में तीन दिन तक हर घर में दीये जलेंगे। यानी 24, 25 और 26 अक्टूबर को अयोध्या को रौशन करने के लिए प्रशासन और लोगों ने अपनी कमर क़स ली है। इस बार गुप्तारघाट, भरतकुंड समेत अयोध्या के 13 प्रमुख मंदिरों में तीन दिनों तक हर दिन 5001 दीये जलेंगे। साथ ही अयोध्या के सभी 10 हजार मंदिरों और घरों में भी दीये जलाए जाएंगे। जिला प्रशासन, अयोध्या नगर निगम और शहर के बड़े शैक्षणिक संस्थान इस मुहिम में जुट गए हैं। इसके जरिए पूरी अयोध्या को दीपोत्सव से जोड़ने की कवायद की जा रही है।

Ayodhya Deepotsav Three Days Diwali Diye Ram Temple Yogi Adityanath :

तो क्या दिवाली से राम मंदिर पर आएगा फैसला

अयोध्या के लोगों का कहना है कि दिवाली से पहले मंदिर पर 18 अक्टूबर को आने वाले फैसले से भी बड़ी खुशी मिल सकती है। ऐसे में दिवाली में अयोध्या के लोगों को दोहरी खुशी का तोहफा मिल सकता है।

इस दिवाली पिछले साल का रिकॉर्ड तोड़ेगी राम नगरी

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उत्तर प्रदेश का सीएम बनने के बाद अयोध्या में दीपोत्सव कार्यक्रम की शुरुआत की थी जो हर साल और बढ़ता ही जा रहा है। इस बार सिर्फ यह राम की पैड़ी तक सीमित नहीं रहेगा बल्कि इसे पूरे जिले में मनाया जाएगा। अयोध्या नगर निगम के मेयर ऋषिकेश उपाध्याय का कहना है कि इस बार अयोध्या को त्रेता युग जैसा सजाने की तैयारी है। यानी इस दिवाली वहीं उजाला वापस लाना है जैसी त्रेता युग में भगवान श्रीराम के लंका विजय कर अयोध्या लौटने पर हुई थी।

5000 से ज्यादा वॉलंटियर जलाएंगे दीये

इस बार यूनिवर्सिटी और उससे जुड़े सभी कॉलेजों के स्टूडेंट्स वॉलंटियर कर रहे हैं, ये सभी स्टूडेंट्स पूरे जिले के हर घर में जाकर दीये जलाने के लिए लोगों को प्रेरित करेंगे और दीये जलाने में भी मदद करेंगे। अयोध्या को जगमग करने के लिए अब तक 5 हजार बच्चों ने रजिस्ट्रेशन कराया है। अवध विश्वविद्यालय के कुलपति मनोज दीक्षित ने बताया कि इस बार कुल चार लाख दीये जलाने का कार्यक्रम है।

लखनऊ। दिवाली के त्योहार में अब चंद दिन ही रह गए हैं और राम नगरी यानि अयोध्या को जगमग करने के लिए योगी सरकार भी पूरी तैयारी में जुट गई है। इस बार राम की पैड़ी पर ही दीये नहीं जलेंगे बल्कि पूरी रामनगरी में तीन दिन तक हर घर में दीये जलेंगे। यानी 24, 25 और 26 अक्टूबर को अयोध्या को रौशन करने के लिए प्रशासन और लोगों ने अपनी कमर क़स ली है। इस बार गुप्तारघाट, भरतकुंड समेत अयोध्या के 13 प्रमुख मंदिरों में तीन दिनों तक हर दिन 5001 दीये जलेंगे। साथ ही अयोध्या के सभी 10 हजार मंदिरों और घरों में भी दीये जलाए जाएंगे। जिला प्रशासन, अयोध्या नगर निगम और शहर के बड़े शैक्षणिक संस्थान इस मुहिम में जुट गए हैं। इसके जरिए पूरी अयोध्या को दीपोत्सव से जोड़ने की कवायद की जा रही है। तो क्या दिवाली से राम मंदिर पर आएगा फैसला अयोध्या के लोगों का कहना है कि दिवाली से पहले मंदिर पर 18 अक्टूबर को आने वाले फैसले से भी बड़ी खुशी मिल सकती है। ऐसे में दिवाली में अयोध्या के लोगों को दोहरी खुशी का तोहफा मिल सकता है। इस दिवाली पिछले साल का रिकॉर्ड तोड़ेगी राम नगरी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उत्तर प्रदेश का सीएम बनने के बाद अयोध्या में दीपोत्सव कार्यक्रम की शुरुआत की थी जो हर साल और बढ़ता ही जा रहा है। इस बार सिर्फ यह राम की पैड़ी तक सीमित नहीं रहेगा बल्कि इसे पूरे जिले में मनाया जाएगा। अयोध्या नगर निगम के मेयर ऋषिकेश उपाध्याय का कहना है कि इस बार अयोध्या को त्रेता युग जैसा सजाने की तैयारी है। यानी इस दिवाली वहीं उजाला वापस लाना है जैसी त्रेता युग में भगवान श्रीराम के लंका विजय कर अयोध्या लौटने पर हुई थी। 5000 से ज्यादा वॉलंटियर जलाएंगे दीये इस बार यूनिवर्सिटी और उससे जुड़े सभी कॉलेजों के स्टूडेंट्स वॉलंटियर कर रहे हैं, ये सभी स्टूडेंट्स पूरे जिले के हर घर में जाकर दीये जलाने के लिए लोगों को प्रेरित करेंगे और दीये जलाने में भी मदद करेंगे। अयोध्या को जगमग करने के लिए अब तक 5 हजार बच्चों ने रजिस्ट्रेशन कराया है। अवध विश्वविद्यालय के कुलपति मनोज दीक्षित ने बताया कि इस बार कुल चार लाख दीये जलाने का कार्यक्रम है।