अयोध्या जमीन विवाद: 18 पुनर्विचार याचिकाओं पर आज होगी सुनवाई

Ayodhya land dispute
अयोध्या जमीन विवाद: 18 पुनर्विचार याचिकाओं पर आज होगी सुनवाई

नई दिल्ली। कई ​दशकों से चल रहे अयोध्या जमीन विवाद मामले को लेकर बीते 9 नवंबर को सुप्रीम कोर्ट ने फैसला सुनाया था। फैसला रामलला के पक्ष में था इसलिए कई मुस्लिम संगठनो ने इसका विरोध शुरू कर दिया और आरोप लगा कि ये फैसला आस्था के आधार पर किया गया है। इसके बाद कई मुस्लिम संगठनो ने पुनर्विचार याचिका डाली। इस मामले में कुल 18 पुनर्विचार याचिकाएं पड़ी हैं जिसको लेकर आज सुप्रीम कोर्ट मेें सुनवाई होनी है।

Ayodhya Land Dispute 18 Reconsideration Petitions To Be Heard Today :

आपको बता दें कि अदालत ने विवादित जमीन रामलला को यानी राम मंदिर बनाने के लिए देने का फैसला किया था। पांच जजों की विशेष पीठ के 9 नवम्बर के फैसले पर पुनर्विचार के लिए कुल 18 याचिकाएं दाखिल की गई हैं। इनमें 9 याचिकाएं पक्षकारों की ओर से हैं और बाकी नौ अन्य याचिकाकर्ता हैं। बताया गया कि मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के समर्थन से अयोध्या विवाद पर चार पुनर्विचार याचिकाएं दायर की हैं। इन याचिकाओं में कहा गया है कि अवैध रूप से रखी गई मूर्ति के पक्ष में फैसला सुनाया गया और अवैध हरकत करने वालों को ज़मीन दे दी गई।

चीफ जस्टिस बीएस बोबडे की अध्यक्षता में जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़, जस्टिस अशोक भूषण, जस्टिस एस अब्दुल नजीर और संजीव खन्ना इन याचिकाओं पर आज सुनवाई करेंगे। बताया गया कि यह सुनवाई दोपहर 1.45 पर होगी। आपको बता दें कि फैंसला सुनाने वाली बेंच की अगुवाई करने वाले चीफ जस्टिस रंजन गोगोई हाल ही में रिटायर हो चुके हैं।

नई दिल्ली। कई ​दशकों से चल रहे अयोध्या जमीन विवाद मामले को लेकर बीते 9 नवंबर को सुप्रीम कोर्ट ने फैसला सुनाया था। फैसला रामलला के पक्ष में था इसलिए कई मुस्लिम संगठनो ने इसका विरोध शुरू कर दिया और आरोप लगा कि ये फैसला आस्था के आधार पर किया गया है। इसके बाद कई मुस्लिम संगठनो ने पुनर्विचार याचिका डाली। इस मामले में कुल 18 पुनर्विचार याचिकाएं पड़ी हैं जिसको लेकर आज सुप्रीम कोर्ट मेें सुनवाई होनी है। आपको बता दें कि अदालत ने विवादित जमीन रामलला को यानी राम मंदिर बनाने के लिए देने का फैसला किया था। पांच जजों की विशेष पीठ के 9 नवम्बर के फैसले पर पुनर्विचार के लिए कुल 18 याचिकाएं दाखिल की गई हैं। इनमें 9 याचिकाएं पक्षकारों की ओर से हैं और बाकी नौ अन्य याचिकाकर्ता हैं। बताया गया कि मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के समर्थन से अयोध्या विवाद पर चार पुनर्विचार याचिकाएं दायर की हैं। इन याचिकाओं में कहा गया है कि अवैध रूप से रखी गई मूर्ति के पक्ष में फैसला सुनाया गया और अवैध हरकत करने वालों को ज़मीन दे दी गई। चीफ जस्टिस बीएस बोबडे की अध्यक्षता में जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़, जस्टिस अशोक भूषण, जस्टिस एस अब्दुल नजीर और संजीव खन्ना इन याचिकाओं पर आज सुनवाई करेंगे। बताया गया कि यह सुनवाई दोपहर 1.45 पर होगी। आपको बता दें कि फैंसला सुनाने वाली बेंच की अगुवाई करने वाले चीफ जस्टिस रंजन गोगोई हाल ही में रिटायर हो चुके हैं।