अयोध्या जमीन विवाद: सुप्रीम कोर्ट ने सारी पुर्नविचार याचिकाएं खारिज की

ram mandir
अयोध्या जमीन विवाद: सुप्रीम कोर्ट ने सारी पुर्नविचार याचिकाएं खारिज की

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने बीते 9 नवंबर को अयोध्या जमीन विवाद मामले को लेकर रामलला यानी राम मंदिर के पक्ष में फैसला सुनाया था जिसके बाद मुस्लिम लीग के कुछ संगठनो ने इसका विरोध किया था। इस मामले में कुल 18 पुनर्विचार याचिकाएं डाली गयीं थी जिसकी आज सुनवाई होनी थी। चीफ जस्टिस की अध्यक्षता वाली 5 जजों की बेंच ने 40 मिनट तक चर्चा की और सारी याचिकाएं खारिज कर दीं।

Ayodhya Land Dispute Supreme Court Dismisses All Reconsideration Petitions :

बताया गया कि इन 18 पुनर्विचार याचिकाओं में 9 दूसरे पक्षदारों की तरफ से याचिकाएं डाली गयी थी जबकि 9 स्वतंत्र रूप से लोगों ने डाली थी। इन याचिकाओं में कहा गया था कि कि अवैध रूप से रखी गई मूर्ति के पक्ष में फैसला सुनाया गया है और अवैध हरकत करने वालों को ज़मीन दे दी गई। चीफ जस्टिस बीएस बोबडे की अध्यक्षता में जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़, जस्टिस अशोक भूषण, जस्टिस एस अब्दुल नजीर और संजीव खन्ना ने इन याचिकाओं पर आज सुनवाई की।

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने बीते 9 नवंबर को अयोध्या जमीन विवाद मामले को लेकर रामलला यानी राम मंदिर के पक्ष में फैसला सुनाया था जिसके बाद मुस्लिम लीग के कुछ संगठनो ने इसका विरोध किया था। इस मामले में कुल 18 पुनर्विचार याचिकाएं डाली गयीं थी जिसकी आज सुनवाई होनी थी। चीफ जस्टिस की अध्यक्षता वाली 5 जजों की बेंच ने 40 मिनट तक चर्चा की और सारी याचिकाएं खारिज कर दीं। बताया गया कि इन 18 पुनर्विचार याचिकाओं में 9 दूसरे पक्षदारों की तरफ से याचिकाएं डाली गयी थी जबकि 9 स्वतंत्र रूप से लोगों ने डाली थी। इन याचिकाओं में कहा गया था कि कि अवैध रूप से रखी गई मूर्ति के पक्ष में फैसला सुनाया गया है और अवैध हरकत करने वालों को ज़मीन दे दी गई। चीफ जस्टिस बीएस बोबडे की अध्यक्षता में जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़, जस्टिस अशोक भूषण, जस्टिस एस अब्दुल नजीर और संजीव खन्ना ने इन याचिकाओं पर आज सुनवाई की।