1. हिन्दी समाचार
  2. खबरें
  3. अयोध्या: न कोई चिंता, न कोई आशंका, जय श्रीराम के जयकारों के साथ पंचकोसी परिक्रमा शुरू

अयोध्या: न कोई चिंता, न कोई आशंका, जय श्रीराम के जयकारों के साथ पंचकोसी परिक्रमा शुरू

By बलराम सिंह 
Updated Date

लखनऊ। अयोध्या में राम जन्मभूमि और बाबरी मस्जिद विवाद पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला कभी भी आ सकता है। इसे लेकर उत्तर प्रदेश समेत कई प्रदेशों में खास तैयारियां की गई है। उत्तर प्रदेश के अधिकांश जिलों में धारा-144 लागू है और अयोध्या से जुड़े किसी भी आयोजन पर रोक लगा दी गई है। हर तरफ गहमा गहमी के बीच रामनगरी बेखबर होकर अपने आराध्य की धुन में मस्त है। पंचकोसी परिक्रमा में बाहरी श्रद्धालुओं सहित स्थानीय लोग भी शिरकत कर रहे हैं।

अयोध्या में गुरुवार को मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम के जयकारों के साथ पंचकोसी परिक्रमा शुरू हो गयी। श्रीराम जन्मभूमि के 15 किलोमीटर की परिधि में होने वाली इस परिक्रमा में लाखों भक्त शामिल होते है। गुरुवार को सुबह 9.47 बजे से शुरू हुई यह परिक्रमा शुक्रवार को दोपहर 11.56 बजे तक समाप्त होगी।

परिक्रमा के दौरान अयोध्या विवाद के संभावित फैसले को लेकर पुलिस और प्रशासन पूरी तरह अलर्ट है। परिक्रमा मार्ग पर सख्त सुरक्षा घेरा है। जिलाधिकारी और एसएसपी समेत अन्य वरिष्ठ अधिकारी लगातार सुरक्षा व्यवस्था की निगरानी कर रहे हैं। चौदह कोसी यात्रा संपन्न होने के बाद गुरुवार से पंचकोसी परिक्रमा शुरू हो गई है। सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किए गए हैं। परिक्रमा की भीड़ के नियंत्रण के लिए जगह-जगह बैरियर लगाए गए हैं। जोन व सेक्टर में बांटकर परिक्रमा पथ की निगरानी की जा रही है।

15 लाख श्रद्धालुओं ने की चौदहकोसी परिक्रमा
अयोध्या फैसले को लेकर तमाम विपरीत आशंकाओं को चौदहकोसी परिक्रमा मेले में उमड़े लाखों भक्तों ने निर्मूल साबित कर दिया। आशंकाओं के ठीक विपरीत रामनगरी में आस्था एवं श्रद्धा का सागर हिलोरे लेते नजर आया। चौदहकोसी परिक्रमा पूरी कर करीब 15 लाख श्रद्धालुओं ने पावन सलिला सरयू में डुबकी लगाई और मंदिरों में दर्शन-पूजन किया।

मंदिरों में उमड़ रही भीड़
रामलला, हनुमानगढ़ी, कनक भवन से लेकर दशरथ महल बड़ा स्थान, मणिरामदास की छावनी, श्रीरामबल्लभाकुंज सहित अन्य मंदिर भक्तों से गुलजार हैं तो अयोध्या का धार्मिक वैभव भी फलक पर नजर आ रहा है। परिक्रमा करने वाले भक्तों में काफी उत्साह है। वे कहते हैं हमारे रामलला की रिहाई का दिन अब नजदीक है, यह परिक्रमा निर्णय को समर्पित है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...