1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. Ayodhya : राज ठाकरे का बढ़ा विरोध, अब इकबाल अंसारी बोले-पहले मांगें माफी, फिर मिलेगी धर्म नगरी में एंट्री

Ayodhya : राज ठाकरे का बढ़ा विरोध, अब इकबाल अंसारी बोले-पहले मांगें माफी, फिर मिलेगी धर्म नगरी में एंट्री

महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (Maharashtra Navnirman Sena) के चीफ राज ठाकरे (Raj Thackeray) के 5 जून को होने वाले प्रभु श्री राम की नगरी अयोध्या (Ayodhya) दौरे का ऐलान कर चुके है। इस दौरे को लेकर यूपी (UP) में विरोध बढ़ता ही जा रहा है। पहले अयोध्या के साधु संत और कैसरगंज के बाहुबली भाजपा सांसद बृजभूषण शरण सिंह (BJP MP Brij Bhushan Sharan Singh) ने कहा था कि एमएनएस प्रमुख राज ठाकरे (Raj Thackeray)  पहले उत्तर भारतीयों से माफी मांगे और फिर अयोध्‍या आएं।

By संतोष सिंह 
Updated Date

अयोध्या। महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (Maharashtra Navnirman Sena) के चीफ राज ठाकरे (Raj Thackeray) के 5 जून को होने वाले प्रभु श्री राम की नगरी अयोध्या (Ayodhya) दौरे का ऐलान कर चुके है। इस दौरे को लेकर यूपी (UP) में विरोध बढ़ता ही जा रहा है।

पढ़ें :- बाबरी मस्जिद पक्षकार रहे Iqbal Ansari बोले- संविधान के दायरे में रहें मुसलमान , सड़कों पर न उतरें

पहले अयोध्या के साधु संत और कैसरगंज के बाहुबली भाजपा सांसद बृजभूषण शरण सिंह (BJP MP Brij Bhushan Sharan Singh) ने कहा था कि एमएनएस प्रमुख राज ठाकरे (Raj Thackeray)  पहले उत्तर भारतीयों से माफी मांगे और फिर अयोध्‍या आएं। इसी बीच बाबरी मस्जिद के पक्षकार रहे इकबाल अंसारी (Iqbal Ansari) भी मनसे प्रमुख के अयोध्या दौरे के विरोध में कूद गए हैं। उन्‍होंने कहा कि यूपी के लोगों के साथ महाराष्ट्र में बीते दिनों दुर्व्यवहार और अपमानजनक शब्दों का प्रयोग किया था, अगर उत्तर प्रदेश की धर्म नगरी अयोध्या में मनसे प्रमुख आना चाहते हैं तो पहले उन्हें माफी मांगनी पड़ेगी।

इकबाल अंसारी ने कहा कि कैसरगंज के सांसद बृजभूषण शरण सिंह (Brij Bhushan Sharan Singh)हमारे बड़े भाई हैं। उनकी मांग एकदम जायज है। उन्होंने कहा कि हम उनके साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़े हैं। अयोध्या में राज ठाकरे (Raj Thackeray)  को प्रवेश नहीं करने देंगे। इसके साथ उन्‍होंने कहा कि हम राज ठाकरे (Raj Thackeray) का विरोध कर रहे संत समाज के साथ खड़े हैं।

इकबाल अंसारी (Iqbal Ansari) ने कहा कि यह धर्म नगरी है। यहां का संत समाज राज ठाकरे (Raj Thackeray)  के आगमन को लेकर नाराज है। इकबाल अंसारी (Iqbal Ansari) ने तर्क दिया कि अयोध्या धर्म की नगरी है, यह राजनीति का अखाड़ा नहीं है। अगर राज ठाकरे यहां मठ मंदिर और सरयू के दर्शन करना चाहते हैं, तो आम जनमानस की तरह आएं। इसके साथ ही कहा कि अगर संत समाज उनका विरोध कर रहा है तो हम भी संत समाज के साथ हैं। इकबाल अंसारी (Iqbal Ansari) ने कहा कि महाराष्ट्र में उत्तर भारतीयों के साथ बदसलूकी को लेकर संत समाज नाराज है। पहले राज ठाकरे उत्तर भारतीयों से माफी मांगे तभी उनको अयोध्या में प्रवेश करने दिया जाएगा।

बता दें कि शिवसेना नेता और महाराष्‍ट्र के कैबिनेट मंत्री आदित्य ठाकरे का अयोध्या दौरा 10 जून में प्रस्तावित है। दोनों नेताओं के दौरे को लेकर अयोध्या में दोनों ही पार्टियों की तरफ से पोस्टर से सवाल जवाब किए जा रहे हैं। मनसे प्रमुख के आगमन को लेकर अयोध्या की सड़कों पर लगाए गए पोस्‍टरों में लिखा है, ‘राजतिलक की करो तैयारी आ रहे हैं भगवाधारी’, तो दूसरी तरफ शिवसेना ने लिखा,’असली आ रहे हैं नकली से सावधान।

पढ़ें :- प्रो. अखिलेश सिंह बने राममनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय अयोध्या के नए कुलपति

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...