अयोध्या: राम मंदिर निर्माण की इन लोगों पर होगी जिम्मेदारी

ram madir
राम मंदिर: ट्रस्ट में नाम शामिल न होने से संत नाराज, बोले- सरकार ने किया अपमान

अयोध्या। राम मंदिर निर्माण के लिए केंद्र सरकार ने ट्रस्ट गठित कर दिया है। केंद्रीय कैबिनेट ने बुधवार को ‘श्री राम मंदिर तीर्थ क्षेत्र’ के नाम से ट्रस्ट को मंजूरी दी। इसका ऐलान पीएम मोदी ने लोकसभा में किया। वहीं मोदी सरकार के फैसले के बाद गृह मंत्री अमित शाह ने ट्रस्ट के सदस्यों का ऐलान किया। अमित शाह ने ट्वीट कर कहा कि  श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट में 15 ट्रस्टी होंगे। जिसमें एक दलित भी शामिल होगा।

Ayodhya These People Will Be Responsible For Construction Of Ram Temple :

गृह मंत्री अमित शाह के ऐलान के बाद मंदिर ट्रस्ट के सदस्यों की पूरी लिस्ट सामने आ गई है। जिसके मुताबिक,  ट्रस्ट में कुल 15 सदस्य होंगे, 9 स्थायी और 6 नामित सदस्य होंगे,  के.परासरन इसके अध्यक्ष होंगे।

ट्रस्टियों की पूरी सूची

के.परासरन ट्रस्ट के अध्यक्ष होंगे

शंकराचार्य वासुदेवानंद महाराज,सदस्य

परमानंद महाराज जी हरिद्वार,सदस्य

स्वामी गोविंदगिरी जी पुणे, सदस्य

विमलेंद्र मोहन प्रताप मिश्रा,सदस्य

डॉ.अनिल मिश्रा होम्योपैथिक डॉ.अयोध्या,सदस्य

डॉ.कमलेश्वर चौपाल पटना,सदस्य

महंत दिनेंद्र दास निर्मोही अखाड़ा,सदस्य

डीएम अयोध्या ट्रस्ट के संयोजक सदस्य

ट्रस्ट में 6 नामित सदस्य भी होंगे

इनको बोर्ड ऑफ ट्रस्ट नामित करेगा।

आपको बता दें कि लोकसभा में मंदिर ट्रस्ट का ऐलान करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा था ‘मेरी सरकार ने अयोध्या में भगवान श्रीराम के भव्य मंदिर के निर्माण के लिए और इससे संबंधित अन्य विषयों के लिए एक वृहद योजना तैयार की है। सुप्रीम कोर्ट के आदेशों के अनुसार एक स्वायत्त ट्रस्ट श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र का गठन करने का प्रस्ताव पारित किया गया है।’

पीएम के ऐलान के बाद गृह मंत्री अमित शाह ने ट्वीट कर लिखा था कि ‘भारत की आस्था और अटूट श्रद्धा के प्रतीक भगवान श्रीराम के मंदिर के प्रति प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्रतिबद्धता के लिए मैं उनका कोटि-कोटि अभिनन्दन करता हूं। आज का यह दिन समग्र भारत के लिए अत्यंत हर्ष और गौरव का दिन है।’

अयोध्या। राम मंदिर निर्माण के लिए केंद्र सरकार ने ट्रस्ट गठित कर दिया है। केंद्रीय कैबिनेट ने बुधवार को ‘श्री राम मंदिर तीर्थ क्षेत्र’ के नाम से ट्रस्ट को मंजूरी दी। इसका ऐलान पीएम मोदी ने लोकसभा में किया। वहीं मोदी सरकार के फैसले के बाद गृह मंत्री अमित शाह ने ट्रस्ट के सदस्यों का ऐलान किया। अमित शाह ने ट्वीट कर कहा कि  श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट में 15 ट्रस्टी होंगे। जिसमें एक दलित भी शामिल होगा। गृह मंत्री अमित शाह के ऐलान के बाद मंदिर ट्रस्ट के सदस्यों की पूरी लिस्ट सामने आ गई है। जिसके मुताबिक,  ट्रस्ट में कुल 15 सदस्य होंगे, 9 स्थायी और 6 नामित सदस्य होंगे,  के.परासरन इसके अध्यक्ष होंगे। ट्रस्टियों की पूरी सूची के.परासरन ट्रस्ट के अध्यक्ष होंगे शंकराचार्य वासुदेवानंद महाराज,सदस्य परमानंद महाराज जी हरिद्वार,सदस्य स्वामी गोविंदगिरी जी पुणे, सदस्य विमलेंद्र मोहन प्रताप मिश्रा,सदस्य डॉ.अनिल मिश्रा होम्योपैथिक डॉ.अयोध्या,सदस्य डॉ.कमलेश्वर चौपाल पटना,सदस्य महंत दिनेंद्र दास निर्मोही अखाड़ा,सदस्य डीएम अयोध्या ट्रस्ट के संयोजक सदस्य ट्रस्ट में 6 नामित सदस्य भी होंगे इनको बोर्ड ऑफ ट्रस्ट नामित करेगा। आपको बता दें कि लोकसभा में मंदिर ट्रस्ट का ऐलान करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा था 'मेरी सरकार ने अयोध्या में भगवान श्रीराम के भव्य मंदिर के निर्माण के लिए और इससे संबंधित अन्य विषयों के लिए एक वृहद योजना तैयार की है। सुप्रीम कोर्ट के आदेशों के अनुसार एक स्वायत्त ट्रस्ट श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र का गठन करने का प्रस्ताव पारित किया गया है।' पीएम के ऐलान के बाद गृह मंत्री अमित शाह ने ट्वीट कर लिखा था कि ‘भारत की आस्था और अटूट श्रद्धा के प्रतीक भगवान श्रीराम के मंदिर के प्रति प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्रतिबद्धता के लिए मैं उनका कोटि-कोटि अभिनन्दन करता हूं। आज का यह दिन समग्र भारत के लिए अत्यंत हर्ष और गौरव का दिन है।'