कोरोना की दवा ‘दिव्य कोरोनिल टैबलेट’ की आयुष मंत्रालय करेगा जांच, पतंजलि से मांगी जानकारी

ramdev
सर्दी-जुकाम के लिए पतंजलि ने मांगा था लाइसेंस, बना दिया कोरोनो की दवा, विभाग ने भेजा नोटिस!

नई दिल्ली। देश में कोरोना के बढ़ते कहर के बीच बाबा रामदेव ने इसकी दवा बनाने का दवा कर दिया। बाबा रामदेव के इस दावे के बाद आयुष मंत्रालय ने जांच और परीक्षण के लिए पतंजलि से जानकारी मांगी है। केंद्रीय आयुष मंत्री श्रीपद नाइक ने कहा कि नियम के अनुसार पहले आयुष मंत्रालय में दवा को जांच के लिए दिया जाना चाहिए।

Ayush Ministry Will Investigate Corona Drug Divya Coronil Tablet Information Sought From Patanjali :

आयुष मंत्री ने कहा, यह अच्छी बात है कि बाबा रामदेव ने देश को नई दवा दी है, लेकिन नियम के अनुसार, दवा को पहले आयुष मंत्रालय में जांच के लिए देना होगा। रामदेव ने यहां तक कहा है कि उन्होंने एक रिपोर्ट भेजी है। हम इसे देखेंगे और इसके बाद ही दवा को प्रयोग के लिए अनुमति दी जाएगी।

बता दें कि मंगलवार को योग गुरू बाबा रामदेव की पतंजलि आयुर्वेद ने कोरोना की दवा बनाने का दावा किया था। उनका दावा था कि इस दवा की सौ फीसदी रिकवरी रेट है। इस दवा को ‘दिव्य कोरोनिल टैबलेट’ नाम दिया गया है। बाबा रामदेव ने कहा कि पतंजलि ने खतरनाक वायरस के इलाज के लिए इस आयुर्वेदिक दवा को तैयार किया है। उन्होंने बताया कि इस दवा का सेवन करने पर रोगी पांच से 14 दिनों के भीतर ठीक हो जाता है।

 

 

नई दिल्ली। देश में कोरोना के बढ़ते कहर के बीच बाबा रामदेव ने इसकी दवा बनाने का दवा कर दिया। बाबा रामदेव के इस दावे के बाद आयुष मंत्रालय ने जांच और परीक्षण के लिए पतंजलि से जानकारी मांगी है। केंद्रीय आयुष मंत्री श्रीपद नाइक ने कहा कि नियम के अनुसार पहले आयुष मंत्रालय में दवा को जांच के लिए दिया जाना चाहिए। आयुष मंत्री ने कहा, यह अच्छी बात है कि बाबा रामदेव ने देश को नई दवा दी है, लेकिन नियम के अनुसार, दवा को पहले आयुष मंत्रालय में जांच के लिए देना होगा। रामदेव ने यहां तक कहा है कि उन्होंने एक रिपोर्ट भेजी है। हम इसे देखेंगे और इसके बाद ही दवा को प्रयोग के लिए अनुमति दी जाएगी। बता दें कि मंगलवार को योग गुरू बाबा रामदेव की पतंजलि आयुर्वेद ने कोरोना की दवा बनाने का दावा किया था। उनका दावा था कि इस दवा की सौ फीसदी रिकवरी रेट है। इस दवा को 'दिव्य कोरोनिल टैबलेट' नाम दिया गया है। बाबा रामदेव ने कहा कि पतंजलि ने खतरनाक वायरस के इलाज के लिए इस आयुर्वेदिक दवा को तैयार किया है। उन्होंने बताया कि इस दवा का सेवन करने पर रोगी पांच से 14 दिनों के भीतर ठीक हो जाता है।