अखिलेश की रथयात्रा के बाद अब सपा के रजत जयंती समारोह से भी नदारद रहे आजम खान

Azam Khan Did Not Attended Silver Jubilee

लखनऊ| अखिलेश यादव के करीबी यूपी के कैबिनेट मंत्री आजम खां अखिलेश की रथयात्रा से नदारद रहने के बाद आज समाजवादी पार्टी के 25 साल पूरे होने पर लखनऊ में आयोजित रजत जयंती समारोह में भी नहीं दिखे| रजत जयंती समारोह में अखिलेश के नाराज चाचा शिवपाल और सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह तो जुट गए लेकिन आजम की गैरमौजूदगी कई सवाल छोड़ गई। रथयात्रा और रजत जयंती समारोह से सपा के वरिष्ठ नेता और प्रदेश सरकार के कद्दावर मंत्री मोहम्मद आजम खां की वहां गैर मौजूदगी का कोई राजनीतिक कारण तो नहीं? यह सवाल प्रदेश के लोगों को हैरत में डाल रहा है।




समाजवादी पार्टी के गठन से लेकर प्रदेश में सरकारें बनवाने तक कैबिनेट मंत्री आजम खां का जो योगदान है वह किसी से छिपा नहीं है। आजम खां खुद कई बार यह बात खुले तौर पर कह चुके हैं कि समाजवादी पार्टी के संस्थापक सदस्यों में वह हैं। ऐसे में उनका रथयात्रा और रजत जयंती समारोह से दूरी बनाये रखना किसी के गले नहीं उतर रहा है|

इससे पहले सपा के रजत जयंती समारोह को संबोधित करते हुए शिवपाल यादव भावुक हो गए और उनका दर्द छलक आया| उन्होंने अखिलेश से कहा कि वह चाहे जितना अपमान कर लें, लेकिन उन्होंने भी पार्टी के लिए काफी काम किया है| जनेश्वर मिश्र पार्क में आयोजित समारोह को संबोधित करते हुए उन्होंने ये बातें कही| शिवपाल ने मंच से आमंत्रित अथितियों का स्वागत करते हुए अपने और अखिलेश के बीच चल रही तनातनी का खुलेआम जिक्र किया|

शिवपाल ने कहा, “चाहे जितना अपमान कर लो, बर्खास्त कर लो, लेकिन मैंने भी बहुत काम किया है|” उन्होंने अखिलेश से कहा, “मुख्यमंत्री जी मेरे विभाग में जितना काम हुआ, वह आपके विभाग में नहीं हुआ| मुख्यमंत्री जी मेरा अपमान कर लो और क्या चाहते हो मुझसे? जो भी मंगोंगे दे देंगे| मैंने भी बहुत संघर्ष किया है। मुझे कभी मुख्यमंत्री नहीं बनना|”




इससे पूर्व लालू यादव ने मंच पर अखिलेश और शिवपाल को गले लगवाया और हाथ उठवाकर एकजुटता का संदेश दिया| इतना ही नहीं, अखिलेश ने शिवपाल के पैर भी छुए| दोनों के चेहरे की मुस्कान बता रही थी कि अब सब कुछ ठीक है| समारोह में मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की सांसद पत्नी सांसद डिंपल यादव भी मौजूद थीं|

इससे पूर्व प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल यादव ने एक बार फिर सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव के संघर्षो को याद करते हुए कहा, “हमने उनसे बहुत कुछ सीखा है|” शिवपाल ने कहा कि रजत जयंती के अवसर पर आज डॉ. राममनोहर लोहिया व जनेश्वर मिश्र के संघर्षो को याद करने के लिए जुटे हुए हैं|

लखनऊ के जनेश्वर मिश्र पार्क में आयोजित सपा के रजत जयंती समारोह के मौके पर लाखों कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए शिवपाल यादव ने ये बातें कही| सपा के प्रदेश अध्यक्ष ने कहा, “नेताजी के 25 वर्षो के संघर्षो की वजह से ही आज सपा रजत जयंती मना रही है| आज लोहिया व जनेश्वर मिश्र को याद करने का दिन है|”



लखनऊ| अखिलेश यादव के करीबी यूपी के कैबिनेट मंत्री आजम खां अखिलेश की रथयात्रा से नदारद रहने के बाद आज समाजवादी पार्टी के 25 साल पूरे होने पर लखनऊ में आयोजित रजत जयंती समारोह में भी नहीं दिखे| रजत जयंती समारोह में अखिलेश के नाराज चाचा शिवपाल और सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह तो जुट गए लेकिन आजम की गैरमौजूदगी कई सवाल छोड़ गई। रथयात्रा और रजत जयंती समारोह से सपा के वरिष्ठ नेता और प्रदेश सरकार के कद्दावर मंत्री मोहम्मद…