सियासत छोड़ मंदिर में घंटा बजाएं मोदी: आजम

लखनऊ: अपने बेतुके बयानों को लेकर सुर्खियों में बने रहने वाले समाजवादी पार्टी के क़द्दावर नेता व यूपी के नगर विकास मंत्री आजम खां ने एक बार फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला बोला है| आजम ने मोदी को किसी मंदिर में जाकर घंटा बजाने और सियासत छोड़ने तक की सलाह दे डाली। यूपी के गवर्नर राम नाईक ने दादरी कांड पर प्रदेश सरकार की ओर से दिए गए मुआवजे पर सवाल उठाया था।

उन्होंने कहा कि दादरी कांड पर मुझे नहीं पता कि गवर्नर साहब ने क्या कहा। हालांकि अगर राज्यपाल को लगता है कि मुआवजा बांटने में सभी धर्मों का ख्याल नहीं रखा गया है तो प्रधानमंत्री हमारे मुख्यमंत्री को बस एक फोन कर दें, हम जातीय तौर पर हाथ फैलाकर पांच दिन में मुआवजा दूना दे देंगे।

बुधवार को बांसमंडी आए आजम खां ने दादरी कांड पर मोदी की टिप्पणी पर कहा कि प्रधानमंत्री से कहिए वे सियासत छोड़ दें और मंदिर में घंटा बजाएं। आजम यहां शायर जौहर कानपुरी से मिलने उनके घर पहुंचे थे। उन्होंने कहा कि संगीत सोम खुद मीट का कारोबार करते हैं। विश्वास नहीं होता कि वे मीट नहीं खाते। वे हराम का मीट खिला रहे हैं।

नगर विकास मंत्री ने मुसलमानों से अपील की कि वे किसी भी जानवर का मीट न खाएं। उन्होंने यह भी बताया कि दुनिया में मांस का निर्यात करने में भारत ने ब्राजील को भी पीछे छोड़ दिया है और सबसे ऊपरी पायदान पर है। इस मांस को तो मुसलमान कतई नहीं खा सकते क्योंकि मुस्लिम संस्कृति में बिना जिबाह किए किसी जानवर का गोश्त खाना हराम है।

दादारी कांड पर क्या था मोदी का बयान

एक अखबार को दिए इंटरव्यू में पीएम नरेंद्र मोदी ने दादरी कांड को शर्मनाक करार देते हुए कहा था कि बीजेपी कभी ऎसी घटनाओं का समर्थन नहीं करती। दादरी की घटना या गुलाम अली का विरोध दुखद है। इन घटनाओं में केंद्र सरकार की क्या भूमिका है। बता दें, दादरी कांड पर मोदी ने पिछले हफ्ते बिहार चुनाव प्रचार के दौरान अपनी चुप्पी तोडी थी। उन्होंने कहा था कि हिंदुओं-मुसलमानों को आपस में नहीं, बल्कि गरीबी और भूख के खिलाफ लडना चाहिए।

Loading...