आजम, तजीन और अब्दुल्ला घर पर नहीं मिले, पुलिस ने गेट पर चस्पा किए कोर्ट के नोटिस

rampur azam khan
आजम, तजीन और अब्दुल्ला घर पर नहीं मिले, पुलिस ने गेट पर चस्पा किए कोर्ट के नोटिस

रामपुर। सपा सांसद आजम खां, उनकी पत्नी राज्यसभा सांसद डा. तजीन फात्मा और विधायक बेटे अब्दुल्ला आजम पुलिस को घर पर नहीं मिले। पुलिस ने उनके आवास पर अदालत का नोटिस चस्पा कर दिया है, जिसमें अदालत ने उन्हें तीन अक्टूबर को पेश होने का आदेश दिया है।

Azam Tazin And Abdullah Not Found At Home Police Paste Court Notice :

सांसद आजम खां के पुत्र अब्दुल्ला आजम स्वार से विधायक हैं। उन्होंने 2017 में विधानसभा का चुनाव लड़ा था, जिसमें शपथपत्र भी दिया गया था। आरोप है कि विधायक ने कुछ सूचनाएं गलत दी थीं। कुछ माह पहले भाजपा नेता आकाश सक्सेना ने शासन से शिकायत की थी। अब्दुल्ला के दो जन्म प्रमाणपत्र होने की शिकायत की थी। गंज कोतवाली में इस मामले को लेकर रिपोर्ट दर्ज की गई थी, जिसमें आजम खां, उनकी पत्नी तजीन फात्मा और विधायक अब्दुल्ला आजम को नामजद किया गया था। दो जन्म प्रमाण बनवाने के मामले में पुलिस तीनों के खिलाफ चार्जशीट लगा चुकी है, जिसकी सुनवाई अदालत में शुरू हो गई है।

अदालत ने इस मामले में तीनों को तीन अक्टूबर को पेश होने का आदेश दिया है। गंज कोतवाली प्रभारी रामवीर सिंह ने बताया कि पुलिस अदालत का समन लेकर आजम खां के घर पहुंची, लेकिन घर पर कोई नहीं मिला, इसलिए नोटिस को उनके आवास पर चस्पा कर दिया गया है।

रामपुर। सपा सांसद आजम खां, उनकी पत्नी राज्यसभा सांसद डा. तजीन फात्मा और विधायक बेटे अब्दुल्ला आजम पुलिस को घर पर नहीं मिले। पुलिस ने उनके आवास पर अदालत का नोटिस चस्पा कर दिया है, जिसमें अदालत ने उन्हें तीन अक्टूबर को पेश होने का आदेश दिया है। सांसद आजम खां के पुत्र अब्दुल्ला आजम स्वार से विधायक हैं। उन्होंने 2017 में विधानसभा का चुनाव लड़ा था, जिसमें शपथपत्र भी दिया गया था। आरोप है कि विधायक ने कुछ सूचनाएं गलत दी थीं। कुछ माह पहले भाजपा नेता आकाश सक्सेना ने शासन से शिकायत की थी। अब्दुल्ला के दो जन्म प्रमाणपत्र होने की शिकायत की थी। गंज कोतवाली में इस मामले को लेकर रिपोर्ट दर्ज की गई थी, जिसमें आजम खां, उनकी पत्नी तजीन फात्मा और विधायक अब्दुल्ला आजम को नामजद किया गया था। दो जन्म प्रमाण बनवाने के मामले में पुलिस तीनों के खिलाफ चार्जशीट लगा चुकी है, जिसकी सुनवाई अदालत में शुरू हो गई है। अदालत ने इस मामले में तीनों को तीन अक्टूबर को पेश होने का आदेश दिया है। गंज कोतवाली प्रभारी रामवीर सिंह ने बताया कि पुलिस अदालत का समन लेकर आजम खां के घर पहुंची, लेकिन घर पर कोई नहीं मिला, इसलिए नोटिस को उनके आवास पर चस्पा कर दिया गया है।