आजमगढ़ः एनकाउंटर में डेढ़ लाख का इनामी लक्ष्मण यादव ढेर

kil
आजमगढ़ः एनकाउंटर में डेढ़ लाख का इनामी लक्ष्मण यादव ढेर

आजमगढ़। उत्तर प्रदेश में आजमगढ़ (Azamgarh) के महाराजगंज थाना क्षेत्र में चेकिंग के दौरान पुलिस की बदमाशों से मुठभेड़ (Encounter) हो गई। इस दौरान डेढ़ लाख का इनामी कुख्यात बदमाश लक्ष्मण यादव (Laksman Yadav) ढेर हो गया। मुठभेड़ में मारे गए बदमाश के पास से। 32 एमएम का पिस्टल, हेलमेट, चप्पल बरामद हुआ। उसके ऊपर आजमगढ़ समेत पूर्वांचल के विभिन्न जनपदों में 42 से अधिक मुकदमा दर्ज हैं।

Azamgarh Police Gunned Down 1 Lakh 50 Thousand Rewarded Criminal Laksman Yadav In Encounter Uttar Pradesh :

रुकने का इशारा किया तो कर दी फायरिंग

महाराजगंज थाना क्षेत्र के बनकटा नेहरुपुर गांव के समीप पानी से भरे धान के खेत में पुलिस और बदमाशों के बीच गुरुवार की सुबह मुठभेड़ हुई। मुठभेड़ में बाइक सवार एक बदमाश पुलिस की गोली से ढेर हो गया। जबकि दूसरा बदमाश पुलिस पर फायर करते हुए बाइक समेत मौके से भागने में सफल हो गया। मुठभेड़ में मृत बदमाश की पहचान डेढ़ लाख रुपये के इनामी अपराधी लक्ष्मण यादव पुत्र स्वर्गीय राम दरश यादव महाराजगंज थाना क्षेत्र के देवारा गांव निवासी के रूप में हुई। इस मुठभेड़ में बदमाशों की गोली से स्वाट टीम के हेड कांस्टेबल सुरेंद्र यादव भी घायल हो गए। जबकि एसपी ग्रामीण एनपी सिंह समेत अन्य पुलिसकर्मियों के बुलेट प्रूफ जैकेट पर गोली लगी, जिससे वे बाल-बाल बच गए।  

डीजीपी के भाई की हत्या में था शामिल

बदमाश के एनकाउंटर में मारे जाने की सूचना मिलने के बाद मौके पर आला अधिकारी पहुंच गए। आजमगढ़ एसपी ने बताया कि लक्ष्मण यादव काफी शातिर किस्म का अपराधी रहा है। उसके खिलाफ आजमगढ़ के अलावा आसपास के कई जिलों में 4 दर्जन से ज्यादा मुकदमे दर्ज हैं। वह पूर्व डीआईजी जेपी सिंह के भाई रवि प्रकाश सिंह की कुछ दिन पहले हुई हत्या में भी शामिल था। यादव के ऊपर आजमगढ़ जिले में 50 हजार रुपए और अंबेडकरनगर जिले में एक लाख रुपए का इनाम घोषित था।  

आजमगढ़। उत्तर प्रदेश में आजमगढ़ (Azamgarh) के महाराजगंज थाना क्षेत्र में चेकिंग के दौरान पुलिस की बदमाशों से मुठभेड़ (Encounter) हो गई। इस दौरान डेढ़ लाख का इनामी कुख्यात बदमाश लक्ष्मण यादव (Laksman Yadav) ढेर हो गया। मुठभेड़ में मारे गए बदमाश के पास से। 32 एमएम का पिस्टल, हेलमेट, चप्पल बरामद हुआ। उसके ऊपर आजमगढ़ समेत पूर्वांचल के विभिन्न जनपदों में 42 से अधिक मुकदमा दर्ज हैं। रुकने का इशारा किया तो कर दी फायरिंग महाराजगंज थाना क्षेत्र के बनकटा नेहरुपुर गांव के समीप पानी से भरे धान के खेत में पुलिस और बदमाशों के बीच गुरुवार की सुबह मुठभेड़ हुई। मुठभेड़ में बाइक सवार एक बदमाश पुलिस की गोली से ढेर हो गया। जबकि दूसरा बदमाश पुलिस पर फायर करते हुए बाइक समेत मौके से भागने में सफल हो गया। मुठभेड़ में मृत बदमाश की पहचान डेढ़ लाख रुपये के इनामी अपराधी लक्ष्मण यादव पुत्र स्वर्गीय राम दरश यादव महाराजगंज थाना क्षेत्र के देवारा गांव निवासी के रूप में हुई। इस मुठभेड़ में बदमाशों की गोली से स्वाट टीम के हेड कांस्टेबल सुरेंद्र यादव भी घायल हो गए। जबकि एसपी ग्रामीण एनपी सिंह समेत अन्य पुलिसकर्मियों के बुलेट प्रूफ जैकेट पर गोली लगी, जिससे वे बाल-बाल बच गए।   डीजीपी के भाई की हत्या में था शामिल बदमाश के एनकाउंटर में मारे जाने की सूचना मिलने के बाद मौके पर आला अधिकारी पहुंच गए। आजमगढ़ एसपी ने बताया कि लक्ष्मण यादव काफी शातिर किस्म का अपराधी रहा है। उसके खिलाफ आजमगढ़ के अलावा आसपास के कई जिलों में 4 दर्जन से ज्यादा मुकदमे दर्ज हैं। वह पूर्व डीआईजी जेपी सिंह के भाई रवि प्रकाश सिंह की कुछ दिन पहले हुई हत्या में भी शामिल था। यादव के ऊपर आजमगढ़ जिले में 50 हजार रुपए और अंबेडकरनगर जिले में एक लाख रुपए का इनाम घोषित था।