अघोराचार्य बाबा कीनाराम के अवतरण दिवस पर होगा गरीबों का इलाज व सहयोग

baba-kinaram
अघोराचार्य बाबा कीनाराम के अवतरण दिवस पर होगा गरीबों का इलाज व सहयोग

Baba Kinaram Awataran Divas

गाजीपुर। उचय औघ-सजय़ समाज के परमपूज्य अघोराचार्य अवधूत भगवान राम बाबा कीनाराम के अवतरण दिवस के मौके पर 9 सितम्बर को सर्वेश्वरी सेवा समूह की तरफ से गरीबो व असहायो के सहयोग के लिये विशाल स्वास्थ्य शिविर का आयोजन गाजीपुर जनपद में स्थित नगर के दक्षिणी पूर्वी छोर पर स्थित सिद्धपीठ बौ-सजयहिया मठ पर आयोजित किया गया है। इस मौके पर मठ की ओर से अन्य कई जनकल्याण के कार्यक्रम आयोजित किये जायेगें। कार्यक्रम की जिम्मेदारी समूह के संरक्षक संजय सिंह ने उठायी है।

किवदतिंयों की माने तो तकरीबन एक हजार साल पूर्व से यह सिद्धपीठ जिला मुख्यालय पर स्थित है। यहां अवधूत भगवान राम जी आ चुके है। प्राचीनकाल में जब यहां राजा गाधि का शासन था तब यहां महराज का किला हुआ करता था और औघ-सजय़ समाज के गुरू बाबा कीनाराम जी यहां आते जाते रहते थे। हजारो साल से इस मठ में औघ-सजय़ समाज का आना जाना रहता है। कुछ साल पूर्व ही मठ के जर्जर हो चुके संसाधनों व निर्माण कार्यो को बेहतर तरीके से संचालित करने व व्यवस्थित करने का जिम्मा सर्वेश्वरी समूह ने उठाया था और दो सालो में मठ के खण्डहर को नवीन रूप देकर एक नया इतिहास लिख दिया गया।

कीनाराम के अवतरण दिवस पर हर साल होता है कार्यक्रम सर्वेश्वरी समूह के सरंक्षक संजय सिंह ने बताया कि हर वर्ष अघोराचार्य बाबा किनाराम जी
के अवतरण दिवस के अवसर पर यहां गरीबो व असहायो को मेडिकल के साथ-ंउचयसाथ अन्य सुविधायें उपलब्ध करायी जाती है। हर रविवार की शाम यहां बाबा की आरती होती है। इसमे नगर समेत प्रदेश के तमाम इलाको से आने वाला औघ-सजय़ समूह भी जुटता है।
baba-kinaramमठ की महत्ता व तेज का आलम यह है कि यहां आने वाले हर व्यक्ति को सुकुन के साथ-ंउचयसाथ जिन्दगी में सतकर्मो के आधार पर आगे ब-सजय़ने की प्रेरणा मिलती हैं। हजारो साल से औघ-सजय़ समाज यहां टेकता है माथा नगर के प्रबुद्धो व धर्मावलम्बियों की माने तो यह परमपूज्य किनाराम बाबा की स्थली लम्बे समय से गरीबो व असहायो के साथ-ंउचयसाथ साधको का प्रिय स्थान माना जाता हैं।

मठ परिसर में सैकड़ो लोगो के रूकने व खाने का भी इंतजाम है। हर सप्ताह रविवार की बाबा की महा आरती में हर धर्म व समुदाय से जुड़े नर-ंउचयनारियेां का सैलाब उमड़ता है और लोग साधना के बाद आर्शीवाद लेकर अपनी आगे की मंजिल तय करते है। कुल मिलाकर भक्ति व तेज की पराकाष्ठा यहां देखने को मिलती है। हजारो साल पुरानी खोपड़ियों व बाबा के खड़ाऊ की होती है पूजा अति प्राचीन बौ-सजय़हिया सिद्धपीठ में आज ही हजारो साल पुरानी मानव खोपड़िया आसानी से मिल जायेगी।

मठ का तेज और प्रताप ही कहा जायेगा कि हजारो साल से मौजूद इन मानव कंकालो पर न तो मौसम की मार पड़ती है और न ही प्रकृति का असर होता हैं। बाबा का खड़ाऊ और बाबा की माला आज भी मठ में मौजूद है और औघ-सजय़ समाज के साथ-ंउचयसाथ सर्वसमाज के लोगो के भक्ति व साधना का प्रमुख केन्द्र बना हुआ है और कुछ सालो से सर्वेश्वरी समूह की देखरेख में यहां की रौनकता ब-सजय़ गयी है।

हर रोग के बड़े चिकित्सक करेगें इलाज मिलेगी निःशुल्क दवा सर्वेश्वरी समूह के सरंक्षक संजय सिंह ने बताया कि दिल्ली कलकत्ता के साथ-ंउचयसाथ बड़े शहरों में काम करने वाले व दर्जन भर गम्भीर बीमारियों के जानकार चिकित्सक अवतरण दिवस के दिन यहां सेवा देगें और हर मरीज को बेहतर इलाज की सुविधा देेने के साथ-ंसाथ लोगो को मेडिसीन भी उपलब्ध कराये जायेगें। ताकि उनकी बीमारियों को जड़ से समाप्त किया जा सके। इस मौके पर गरीबो को खाना, वस्त्र व अन्य जरूरी सुविधायें भी उपलब्ध करायी जायेगी।

गाजीपुर। उचय औघ-सजय़ समाज के परमपूज्य अघोराचार्य अवधूत भगवान राम बाबा कीनाराम के अवतरण दिवस के मौके पर 9 सितम्बर को सर्वेश्वरी सेवा समूह की तरफ से गरीबो व असहायो के सहयोग के लिये विशाल स्वास्थ्य शिविर का आयोजन गाजीपुर जनपद में स्थित नगर के दक्षिणी पूर्वी छोर पर स्थित सिद्धपीठ बौ-सजयहिया मठ पर आयोजित किया गया है। इस मौके पर मठ की ओर से अन्य कई जनकल्याण के कार्यक्रम आयोजित किये जायेगें। कार्यक्रम की जिम्मेदारी समूह के संरक्षक संजय…