पतंजलि में हुई आचार्या बालकृष्ण के साथ घटना की हर स्तर पर होगी जांच: स्वामी रामदेव

baba ramdev
पतंजलि में हुई आचार्या बालकृष्ण के साथ घटना की हर स्तर पर होगी जांच: स्वामी रामदेव

नई दिल्ली। ऋषिकेश के एम्स में भर्ती पतंजलि योगपीठ के महामंत्री आचार्य बालकृष्ण को छुट्टी दे दी गयी है। इस दौरान योगगुरु स्वामी रामदेव ने कहा कि आचार्य बालकृष्ण के साथ बड़ी दुर्घटना होते-होते बची है, मामले की हर स्तर पर जांच कराई जाएगी। रामदेव ने कहा, अब आचार्य पूर्ण रूप से स्वस्थ हैं। उन्हे मानसिक आघात पहुंचा है।

Baba Ramdev Told For Investigation For Patanjali Ceo Acharya Balkrishna Food Poisoning :

स्वामी रामदेव ने पत्रकारवार्ता के दौरान कहा कि अब योगपीठ में कोई भी खाद्य पदार्थ बाहर से बिना जांच के नहीं लाया जाएगा। उन्होने कहा कि मैंने पहले ही इस बात को लेकर सचेत किया था कि आचार्य बालकृष्ण किसी भी बाहरी व्यक्ति के द्वारा दिया हुआ कुछ भी ना खाएं। स्वामी रामदेव ने कहा कि कुछ लोगों ने यह बातें फैलाई कि आचार्य बालकृष्ण को पैरालिसिस और हार्ट अटैक हुआ जो गलत है।

एम्स के चिकित्सा अधीक्षक ने बताया कि फिलहाल उनके एंजाइम्स और खून के नमूने फरेंसिक जांच के लिए भेजे गए हैं, इनकी रिपोर्ट आने में वक्त लगेगा। यह रिपोर्ट आने पर सब कुछ स्पष्ट हो जाएगा। उन्होंने बताया कि आचार्य बालकृष्ण को हृदय और मस्तिष्क से संबंधी कोई बड़ी समस्या नहीं है।

बताते चलें कि शुक्रवार दोपहर करीब ढाई बजे मिठाई खाने के बाद आचार्य बालकृष्ण की अचानक बिगड़ गई थी। उन्हें उपचार के लिए हरिद्वार स्थित भूमानंद अस्पताल ले जाया गया, जहां हालत गंभीर देखते हुए चिकित्सकों ने उन्हें ऋषिकेश एम्स रेफर कर दिया।

नई दिल्ली। ऋषिकेश के एम्स में भर्ती पतंजलि योगपीठ के महामंत्री आचार्य बालकृष्ण को छुट्टी दे दी गयी है। इस दौरान योगगुरु स्वामी रामदेव ने कहा कि आचार्य बालकृष्ण के साथ बड़ी दुर्घटना होते-होते बची है, मामले की हर स्तर पर जांच कराई जाएगी। रामदेव ने कहा, अब आचार्य पूर्ण रूप से स्वस्थ हैं। उन्हे मानसिक आघात पहुंचा है। स्वामी रामदेव ने पत्रकारवार्ता के दौरान कहा कि अब योगपीठ में कोई भी खाद्य पदार्थ बाहर से बिना जांच के नहीं लाया जाएगा। उन्होने कहा कि मैंने पहले ही इस बात को लेकर सचेत किया था कि आचार्य बालकृष्ण किसी भी बाहरी व्यक्ति के द्वारा दिया हुआ कुछ भी ना खाएं। स्वामी रामदेव ने कहा कि कुछ लोगों ने यह बातें फैलाई कि आचार्य बालकृष्ण को पैरालिसिस और हार्ट अटैक हुआ जो गलत है। एम्स के चिकित्सा अधीक्षक ने बताया कि फिलहाल उनके एंजाइम्स और खून के नमूने फरेंसिक जांच के लिए भेजे गए हैं, इनकी रिपोर्ट आने में वक्त लगेगा। यह रिपोर्ट आने पर सब कुछ स्पष्ट हो जाएगा। उन्होंने बताया कि आचार्य बालकृष्ण को हृदय और मस्तिष्क से संबंधी कोई बड़ी समस्या नहीं है। बताते चलें कि शुक्रवार दोपहर करीब ढाई बजे मिठाई खाने के बाद आचार्य बालकृष्ण की अचानक बिगड़ गई थी। उन्हें उपचार के लिए हरिद्वार स्थित भूमानंद अस्पताल ले जाया गया, जहां हालत गंभीर देखते हुए चिकित्सकों ने उन्हें ऋषिकेश एम्स रेफर कर दिया।