बहन ने छोटे भाई की कर डाली हत्या, भूत के डर से फोड़ दी आंखें

जौनपुर। यूपी के जौनपुर से भाई-बहन के पवित्र रिश्तों को शर्मशार करने का एक मामला सामने आया है। जहां प्यार में पागल बहन ने अपने अवैध रिश्तों में बाधा बन रहे छोटे भाई को नाबालिग साथियो के साथ मिलकर मौत के घाट उतार दिया। इतना ही नहीं आरोपी बहन ने अपने मृत भाई की आखें भी फोड़ दी। पुलिस ने घटना के 6 महीने बाद सारे आरोपियों को पकड़कर मामले का खुलासा किया है।




ये दिल दहला देने वाली घटना जौनपुर के महाराजगंज थानाक्षेत्र के अहिरौली की है। यहां के निवासी बृजलाल मौर्य सूरत में परिवार के साथ रहकर नौकरी करते हैं। इनकी बड़ी बेटी सुचिता मौर्य अपने छोटे भाई आश्रित मौर्य के साथ गांव में ही दादा-दादी और चाचा-चाची के साथ रहती थी। बीते 8 नवम्बर 2016 को आरोपी सुचिता ने अपने प्यार में बाधा बन रहे छोटे भाई को विवेक सिंह और शिवम मौर्य के साथ मिलकर मौत के घाट उतार दिया। घटना को अंजाम देने के बाद दोनों आरोपी वहां से भाग निकले।


आरोपी बहन ने कबूला जुर्म—

पकड़े जाने पर आरोपी बहन ने बताया, उसका छोटा भाई हमेशा उसका पीछा करता था। वो जब भी अपने प्रेमी से मिलने जाती थी वो भी पीछे-पीछे आता था। इसीलिए उसने अपने साथियो के साथ मिलकर उसे मार डाला। सुचिता ने आगे बताया कि घटना को अंजाम देने के बाद आरोपी विवेक और शिवम वहां से भाग गए तभी उसने मनीष गौड़ नामक युवक को घर बुलाकर उसके साथ शादी करने का झांसा देकर लाश को ठिकाने लगाने की बात कही। जिसके बाद सुचिता और मनीष लाश को लेकर घर से कुछ दूरी पर जाकर लाश को तालाब के किनारे अरहर के खेत में फेक दिया।


भूत के डर से फोड़ दी आंखे—

इसके बाद सुचिता ने अरहर की डंडी तोड़कर मृत आश्रित की दोनों आंखों को फोड़ दिया। सुचिता का कहना है कि उसे डर था कि कहीं छोटा भाई उसे भूत बनकर परेशान न करे, इसीलिए उसने उसकी दोनों आखें फोड़ दी। पुलिस के मुताबिक हत्या का कारण प्रेम-प्रसंग है। जिसकी मास्टरमाइंड मृत युवक की बड़ी बहन ही है। फिलहाल सारे आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है।