अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए बजरंग दल में भर्ती होंगे 25 हजार कार्यकर्ता

bajrang dal ayodhya
अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए बजरंग दल में भर्ती होंगे 25 हजार कार्यकर्ता

नई दिल्ली। अयोध्या में राम मंदिर निर्माण आंदोलन में सक्रिय बजरंग दल जल्द ही अपने संगठन में 25 हजार कार्यकर्ताओं की भर्ती करने जा रहा है। बता दें कि ये आंकड़ा सिर्फ अवध प्रांत में होने वाली भर्तियों का है। इनमें 10 हजार कार्यकर्ता भर्ती किए जा चुके हैं।

Bajrang Dal Will Recruit 25 Thausands Worker For Ram Mandir Formation In Ayodhya :

इन कार्यकर्ताओं की भर्ती करने के बाद बजरंग दल के इनको त्रिशूल दीक्षा (अस्त्र-शस्त्र का प्रशिक्षण) भी दिलाएगी। विहिप के अवध प्रांत के संगठन मंत्री भोलन्दु ने शनिवार को यहां बताया कि त्रिशूल दीक्षा कार्यक्रम 18 दिसंबर तक चलेगा। ये प्रशिक्षण लेने के बाद कार्यकर्ता मंदिर निर्माण के लिए संतों के आदेश पर किसी भी वक्त अयोध्या कूच के लिए तैयार रहेंगे। संगठन मंत्री के मुताबिक ​विहिप मंदिर निर्माण के मसले पर किसी भी तरह का समझौता नहीं करेगा। उन्होने कहा कि संत जैसा भी आदेश देंगे उसी के मुताबिक विहिप आगे काम करेगी।

बता दें कि अभी त​क 10 हजार नए कार्यकर्ताओं की दीक्षा का काम पूरा हो चुका है। शेष प्रांतों में भी दीक्षा के कार्यक्रम चल रहे हैं। ये कार्यकर्ता किसी भी वक्त अयोध्या कूच करने के लिए तैयार हैं। उनके मुताबिक अस्त्र और शस्त्र का प्रशिक्षण इसलिए दिया गया है क्योंकि ये भारतीय संस्कृति का हिस्सा है।

नई दिल्ली। अयोध्या में राम मंदिर निर्माण आंदोलन में सक्रिय बजरंग दल जल्द ही अपने संगठन में 25 हजार कार्यकर्ताओं की भर्ती करने जा रहा है। बता दें कि ये आंकड़ा सिर्फ अवध प्रांत में होने वाली भर्तियों का है। इनमें 10 हजार कार्यकर्ता भर्ती किए जा चुके हैं। इन कार्यकर्ताओं की भर्ती करने के बाद बजरंग दल के इनको त्रिशूल दीक्षा (अस्त्र-शस्त्र का प्रशिक्षण) भी दिलाएगी। विहिप के अवध प्रांत के संगठन मंत्री भोलन्दु ने शनिवार को यहां बताया कि त्रिशूल दीक्षा कार्यक्रम 18 दिसंबर तक चलेगा। ये प्रशिक्षण लेने के बाद कार्यकर्ता मंदिर निर्माण के लिए संतों के आदेश पर किसी भी वक्त अयोध्या कूच के लिए तैयार रहेंगे। संगठन मंत्री के मुताबिक ​विहिप मंदिर निर्माण के मसले पर किसी भी तरह का समझौता नहीं करेगा। उन्होने कहा कि संत जैसा भी आदेश देंगे उसी के मुताबिक विहिप आगे काम करेगी। बता दें कि अभी त​क 10 हजार नए कार्यकर्ताओं की दीक्षा का काम पूरा हो चुका है। शेष प्रांतों में भी दीक्षा के कार्यक्रम चल रहे हैं। ये कार्यकर्ता किसी भी वक्त अयोध्या कूच करने के लिए तैयार हैं। उनके मुताबिक अस्त्र और शस्त्र का प्रशिक्षण इसलिए दिया गया है क्योंकि ये भारतीय संस्कृति का हिस्सा है।