Bakrid 2018: बक़रीद के मौके पर फेसबुक और व्हाट्सएप पर दोस्तों को भेजें ये संदेश

bakra eid

Bakra Eid Mubarak 2018 Whatsapp Messages

नई दिल्ली। मुस्लिमों का त्योहार बकरीद (ईद अल अजहा) पूरे देश में 22 अगस्त यानि कल मनाया जाएगा। त्योहार की तारीख पता चलते ही देशभर में बकरीद की तैयारियां तेज हो गई हैं और बाजार में काफी चहल पहल देखने को मिल रही है। इस्लामिक में बताया गया है कि इस दिन इब्राहिम ने अल्लाह को अपने बेटे की कुर्बानी दी थी, जिसके बाद वह अल्लाह के पैगंबर बन गए। उस दिन के बाद इस्लाम को माननेवाला हर व्यक्ति अपनी अजीज वस्तु या जानवर की कुर्बानी अल्लाह को देता है। बकरीद के त्योहार पर अपने खास दोस्तों को मैजेस भेजकर आप भी शुभकामनाएं दे सकते हैं।

सूरज की किरणें, तारों की बहार, चांद की चांदनी अपनों का प्यार… आपका हर पर हो खुशहाल, मुबारक हो आपको बकरीद का त्योहार
आगाज ईद है, अंजाम ईद है, सच्चाई पे चलो तो हर गम ईद है… जिसने भी रखे रोजे, उन सबके लिए अल्लाह की तरफ से इनाम ईद है

समंदर को उसका किनारा मुबारक़,
चांद को सितारा मुबारक़,
फूलों को उसकी खुश्बू मुबारक़,
दिल को उसका दिलदार मुबारक़,
आपको और आपके परिवार को,
ईद का त्योहार मुबारक़!!!

चुपके से चांद की,
रोशनी छू जाए आपको!!
धीरे से ये हवा,
कुछ कह जाए आपको!!
दिल से जो चाहते हो,
मांग लो खुदा से!!
हम दुआ करते हैं,
मिल जाए वो आपको!!!
Happy Bakrid!

अल्लाह आपको खु़दाई की सारी नेमतें दे,
अल्लाह आपको खुशियां और अता करे,
दुआ हमारी है आपके साथ,
बकरा ईद पर आप और सबाब हासिल करें!!!
Happy Bakrid

रमजान में ना मिल सके;
ईद में नज़रें ही मिला लूं;
हाथ मिलाने से क्या होगा;
सीधा गले से लगा लूं.
ईद मुबारक

रात को नया चाँद मुबारक,
चाँद को चाँदनी मुबारक,
फलक को सितारे मुबारक,
सितारों को बुलन्दी मुबारक,
और आपको हमारी तरफ से ईद मुबारक…

चुपके से चाँद की रौशनी छू जाये आपको;
धीरे से ये हवा कुछ कह जाये आपको;
दिल से जो चाहते हो मांग लो खुदा से;
हम दुआ करते हैं वो मिल जाये आपको.
ईद मुबारक़!

ईद का चाँद जो देखा तो तमन्ना लिपटी
उन से तक़रीब-ए-मुलाक़ात का रिश्ता निकला

नई दिल्ली। मुस्लिमों का त्योहार बकरीद (ईद अल अजहा) पूरे देश में 22 अगस्त यानि कल मनाया जाएगा। त्योहार की तारीख पता चलते ही देशभर में बकरीद की तैयारियां तेज हो गई हैं और बाजार में काफी चहल पहल देखने को मिल रही है। इस्लामिक में बताया गया है कि इस दिन इब्राहिम ने अल्लाह को अपने बेटे की कुर्बानी दी थी, जिसके बाद वह अल्लाह के पैगंबर बन गए। उस दिन के बाद इस्लाम को माननेवाला हर व्यक्ति अपनी…