बकरीद पर मुस्लिम धर्मगुरु की अपील- त्यौहार पर 10% कम खर्च कर बाढ़ पीड़ितों की मदद करें

लखनऊ। राजधानी लखनऊ के ईदगाह में ईद उल अजहा की नमाज पढ़ी गई। ईद उल अजहा यानी बकरीद आज प्रदेश में बड़े धूमधाम से मनाई जा रही है। इस मौके पर यूपी के राज्यपाल रामनाईक भी पहुंचे। इस दौरान मुस्लिम धर्मगुरु मौलाना खालिद रशीद फरंगी महली ने अपने त्यौहार पर 10% कम खर्च कर उस हिस्से को बाढ़ पीड़ितों को दान देने की अपील की। ईदगाह से मौलाना खालिद रशीद फरंगी महली ने बड़े पैमाने पर बाढ़ पीड़ितों को फ़ूड पैकेट भी भेजे हैं।

राज्यपाल रामनाईक ने इस दौरान कहा, “आज के मौके के लिए जब लोग मुझे ईदगाह से न्योता देने आए, तो मैंने उनसे पूछा कि इस बार क्या विशेष करने जा रहे। मुझे बताया गया कि इस वर्ष कई इलाकों में बाढ़ आई है, इसी कारण हम लोग बाढ़ पीडि़तों के लिए मदद के हाथ आगे बढ़ा रहे हैं। बकरीद के बजट का 10 प्रतिशत बजट बाढ पीडि़तों को दे रहे हैं। यह सुनकर मुझे काफी ख़ुशी हुई और इसके लिए यहां के लोगो को बधाई देता हूं।”

बकरीद के मौके पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लोगों को बधाई देते ट्वीट किया, ‘ईद-उल-अज़हा का त्योहार सभी को मिल-जुल कर रहने तथा सामाजिक सद्भाव बनाए रखने की प्रेरणा प्रदान करता है।’

{ यह भी पढ़ें:- UP: देवरिया में स्कूल के तीसरी मंजिल से गिरी छात्रा की मौत, स्कूल प्रशासन फरार }

वहीं समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने ईदज्जुहा को त्याग, बलिदान एवं समर्पण का पर्व बताते हुए मुस्लिम भाइयों को बधाई दी है। उन्होंने उम्मीद जताई है कि इससे भाईचारा और सामाजिक सौहार्द मजबूत होगा।

{ यह भी पढ़ें:- यूपी में हादसों की रेल: डिरेल हुई पैसेंजर ट्रेन, मालगाड़ी का इंजन पटरी से उतरा }