यहां उतारा जाता है ‘प्यार का भूत’, जानें से घबराते हैं प्रेमी

pyar-ka-bhoot

लखनऊ। कहावत है कि सच्चा प्यार करने वालों की भगवान भी सुनता है, अपने प्यार की सलमाती के लिये लोग मंदिरों में जाकर मन्नतें तक मांगते हैं। लेकिन इस खबर को पढ़कर एक बार आपको हैरानी जरूर होगी। एक ऐसा मंदिर भी है, जहां ‘इश्क के बुखार’ को उतारा जाता है। ये मंदिर उत्तर प्रदेश के सहारनपुर में है। मान्यता है कि सहारनपुर में स्थित हनुमान मंदिर में लोग दूर-दूर से अपने जानने वालों को प्यार से छुटकारा दिलाने के लिये लाते हैं।

Balaji Temple Dangerous For Lovers Extra Marital Affairs :

बीते आठ साल पहले राजस्थान के बालाजी की तर्ज पर तैयार हुए इस मंदिर में लोग दूर दूर से अपने परिजनों के सिर पर चढ़े इश्क के भूत से पीछा छुड़ाने आते हैं। मंदिर में सिर पर चढ़े इश्क के बुखार को उतारने के लिए विशेष दिन पर पूजा की जाती है। हर शनिवार और मंगलवार को पूजा और अनुष्ठान के बाद मंदिर के पुजारी आशिक के परिजनों को कुछ उपाय बताते हैं।

कहावत है कि बताए गए उपायों पर अमल करने पर आशिकों के सिर से आशिकी खत्म हो जाती है। इस मंदिर में प्रेमी जोड़े आने से परहेज करते हैं।

लखनऊ। कहावत है कि सच्चा प्यार करने वालों की भगवान भी सुनता है, अपने प्यार की सलमाती के लिये लोग मंदिरों में जाकर मन्नतें तक मांगते हैं। लेकिन इस खबर को पढ़कर एक बार आपको हैरानी जरूर होगी। एक ऐसा मंदिर भी है, जहां 'इश्क के बुखार' को उतारा जाता है। ये मंदिर उत्तर प्रदेश के सहारनपुर में है। मान्यता है कि सहारनपुर में स्थित हनुमान मंदिर में लोग दूर-दूर से अपने जानने वालों को प्यार से छुटकारा दिलाने के लिये लाते हैं।बीते आठ साल पहले राजस्थान के बालाजी की तर्ज पर तैयार हुए इस मंदिर में लोग दूर दूर से अपने परिजनों के सिर पर चढ़े इश्क के भूत से पीछा छुड़ाने आते हैं। मंदिर में सिर पर चढ़े इश्क के बुखार को उतारने के लिए विशेष दिन पर पूजा की जाती है। हर शनिवार और मंगलवार को पूजा और अनुष्ठान के बाद मंदिर के पुजारी आशिक के परिजनों को कुछ उपाय बताते हैं।कहावत है कि बताए गए उपायों पर अमल करने पर आशिकों के सिर से आशिकी खत्म हो जाती है। इस मंदिर में प्रेमी जोड़े आने से परहेज करते हैं।