‘बालाकोट स्ट्राइक’ सरकार का साहसिक फैसला, जो हमारे संकल्प और क्षमता को दिखया : राजनाथ सिंह

rajnath singh
'बालाकोट स्ट्राइक' सरकार का साहसिक फैसला, जो हमारे संकल्प और क्षमता को दिखया : राजनाथ सिंह

नई दिल्ली। दिल्ली में स्थित सेंटर फॅार एयर पावर स्टडीज के एक कार्यक्रम को रक्षामंत्री राजनाथ सिंह, सीडीएस जनरल बिपिन रावत और वायुसेना प्रमुख एयरचीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया ने संबोधित किया। इस दौरान कार्यक्रम को संबोधित करते हुए रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि बालाकोट स्ट्राइक सरकार का साहसिक फैसला था, जो सीमा पार सिद्धांतों को फिर से लिखे जाने को बाध्य किया, इस हमले ने हमारे संकल्प और क्षमता को दिखाया है।

Balakot Strike Governments Bold Decision Which Showed Our Resolve And Capability Rajnath Singh :

राजनाथ सिंह ने कहा कि पिछले कुछ वर्षों में सुरक्षा परिदृश्य पूरी तरह से बदल गया है। कारगिल और सीमापार आतंकवाद की घटनाएं नए तरह के युद्ध का उदाहरण हैं। हाइब्रिड युद्ध की आज की वास्तविकता है। संघर्ष के इस बदलते परिदृश्य में कोई स्पष्ट शुरुआत और अंत नहीं है। वहीं, इस कार्यक्रम में मौजूद चीफ ऑफ डिफेंस स्टॉफ जनरल बिपिन रावत ने कहा कि बालाकोट एयर स्ट्राइक का संदेश बिल्कुल स्प्ष्ट था।

उन्होंने कहा कि हमारे लोगों पर जिस तरह का छद्म युद्ध चल रहा है उसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि यदि हमें सौंपे गए कार्यों के लिए तैयार रहना है तो यह महत्वपूर्ण है कि हम हर समय जमीन, वायु और समुद्र में विश्वसनीय और प्रभावी प्रतिरोध बनाए रखें। उन्होंने कहा कि यह प्रतिरोध हर कर्मी को प्रशिक्षित और प्रेरित रखने से मिलती है।

नई दिल्ली। दिल्ली में स्थित सेंटर फॅार एयर पावर स्टडीज के एक कार्यक्रम को रक्षामंत्री राजनाथ सिंह, सीडीएस जनरल बिपिन रावत और वायुसेना प्रमुख एयरचीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया ने संबोधित किया। इस दौरान कार्यक्रम को संबोधित करते हुए रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि बालाकोट स्ट्राइक सरकार का साहसिक फैसला था, जो सीमा पार सिद्धांतों को फिर से लिखे जाने को बाध्य किया, इस हमले ने हमारे संकल्प और क्षमता को दिखाया है। राजनाथ सिंह ने कहा कि पिछले कुछ वर्षों में सुरक्षा परिदृश्य पूरी तरह से बदल गया है। कारगिल और सीमापार आतंकवाद की घटनाएं नए तरह के युद्ध का उदाहरण हैं। हाइब्रिड युद्ध की आज की वास्तविकता है। संघर्ष के इस बदलते परिदृश्य में कोई स्पष्ट शुरुआत और अंत नहीं है। वहीं, इस कार्यक्रम में मौजूद चीफ ऑफ डिफेंस स्टॉफ जनरल बिपिन रावत ने कहा कि बालाकोट एयर स्ट्राइक का संदेश बिल्कुल स्प्ष्ट था। उन्होंने कहा कि हमारे लोगों पर जिस तरह का छद्म युद्ध चल रहा है उसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि यदि हमें सौंपे गए कार्यों के लिए तैयार रहना है तो यह महत्वपूर्ण है कि हम हर समय जमीन, वायु और समुद्र में विश्वसनीय और प्रभावी प्रतिरोध बनाए रखें। उन्होंने कहा कि यह प्रतिरोध हर कर्मी को प्रशिक्षित और प्रेरित रखने से मिलती है।