बालाकोट एयरस्ट्राइक के एक वर्ष हुए पूरे, पूर्व वायुसेना प्रमुख ने कहा-घर में घुसकर मारने का दिया संदेश

BS Dhanoa
बालाकोट एयरस्ट्राइक के एक वर्ष हुए पूरे, पूर्व वायुसेना प्रमुख ने कहा-घर में घुसकर मारने का दिया संदेश

नई दिल्ली। बालाकोट एयरस्ट्राइक के आज एक वर्ष पूरे हो गए हैं। बालाकोट कैम्प बीते साल 26 फरवरी तड़के भारतीय वायुसेना के एयरस्ट्राइक में तबाह हुआ था। पहली बरसी से पहले ही पाकिस्तान ने बालाकोट कैम्प की मरम्मत कर उसमें कुछ ढांचागत बदलाव किए हैं। वहीं, एक वर्ष पूरे होने पर पूर्व वायुसेना प्रमुख बीएस धनोआ ने कहा कि एक साल बीत चुका है और हम संतुष्टि के साथ पीछे मुड़कर देखते हैं।

Balakote Airstrike Completes One Year Former Air Force Chief Said Message Given :

हमने बहुत कुछ सीखा है, बालाकोट के संचालन के बाद बहुत सारी चीजें लागू की गई हैं। उन्होंने आगे कहा कि हम संदेश देना चाहते थे कि हम ‘घुसकर मारेंगे’ चाहे आप कहीं भी हों। अन्यथा, हम उनपर अपने क्षेत्र से भी हमला कर सकते थे। बीएस धनाओ ने कहा कि मूल रूप यह आपरेशन हमारे तरीके में एक बदलाव है।

दूसरे पक्ष ने कभी नहीं माना कि हम पाकिस्तान के अंदर चल रहे एक आतंकी प्रशिक्षण शिविर पर स्ट्राइक कर सकते हैं, जिसे हमने सफलतापूर्वक अंजाम दिया। उन्होंने कहा कि बालाकोर्ट हवाई हमले के बाद पूरे भारतीय चुनावों में कोई बड़ा आतंकवादी हमला नहीं हुआ क्योंकि वे डर गए थे कि हम फिर से उसी तरीके से या उससे भी अधिक विनाशकारी तरीके से जवाब देंगे।

बता दें कि, भारत ने पाकिस्तान से पुलवामा हमले में शहीद हुए 40 जवानों की शहादत का बदला 26 फरवरी 2019 के दिन तड़के 3.30 बजे बालाकोट में एयरस्ट्राइक कर लिया था। भारतीय सेना ने पाकिस्तान के बालाकोट पर 26 फरवरी को 2019 को एयर स्ट्राइक कर आतंकी ठिकानों को ध्वस्त कर दिया था। इसमें कई आतंकी मारे गए।

नई दिल्ली। बालाकोट एयरस्ट्राइक के आज एक वर्ष पूरे हो गए हैं। बालाकोट कैम्प बीते साल 26 फरवरी तड़के भारतीय वायुसेना के एयरस्ट्राइक में तबाह हुआ था। पहली बरसी से पहले ही पाकिस्तान ने बालाकोट कैम्प की मरम्मत कर उसमें कुछ ढांचागत बदलाव किए हैं। वहीं, एक वर्ष पूरे होने पर पूर्व वायुसेना प्रमुख बीएस धनोआ ने कहा कि एक साल बीत चुका है और हम संतुष्टि के साथ पीछे मुड़कर देखते हैं। हमने बहुत कुछ सीखा है, बालाकोट के संचालन के बाद बहुत सारी चीजें लागू की गई हैं। उन्होंने आगे कहा कि हम संदेश देना चाहते थे कि हम 'घुसकर मारेंगे' चाहे आप कहीं भी हों। अन्यथा, हम उनपर अपने क्षेत्र से भी हमला कर सकते थे। बीएस धनाओ ने कहा कि मूल रूप यह आपरेशन हमारे तरीके में एक बदलाव है। दूसरे पक्ष ने कभी नहीं माना कि हम पाकिस्तान के अंदर चल रहे एक आतंकी प्रशिक्षण शिविर पर स्ट्राइक कर सकते हैं, जिसे हमने सफलतापूर्वक अंजाम दिया। उन्होंने कहा कि बालाकोर्ट हवाई हमले के बाद पूरे भारतीय चुनावों में कोई बड़ा आतंकवादी हमला नहीं हुआ क्योंकि वे डर गए थे कि हम फिर से उसी तरीके से या उससे भी अधिक विनाशकारी तरीके से जवाब देंगे। बता दें कि, भारत ने पाकिस्तान से पुलवामा हमले में शहीद हुए 40 जवानों की शहादत का बदला 26 फरवरी 2019 के दिन तड़के 3.30 बजे बालाकोट में एयरस्ट्राइक कर लिया था। भारतीय सेना ने पाकिस्तान के बालाकोट पर 26 फरवरी को 2019 को एयर स्ट्राइक कर आतंकी ठिकानों को ध्वस्त कर दिया था। इसमें कई आतंकी मारे गए।