बालाकोट की एयर स्ट्राइक में इस एडवांस तकनीक का हुआ था इस्तेमाल

bunker_buster_bomb_08_05_2019
बालाकोट की एयर स्ट्राइक में इस एडवांस तकनीक का हुआ था इस्तेमाल

नई दिल्ली। भारत तकनीकी रूप से और देशों की बराबरी मैं आ गया है। भारत सरकार हमेशा अपने सैनिकों के लिए नई तकनीक को आजमाती है ऐसे में भारतीय वायुसेना Spice 2000 बम का एडवांस बंकर बस्टर वर्जन खरीदने की तैयारी में है। यह बम किसी भी इमारत और बंकर को पूरी तरह नष्ट करने की क्षमता रखता है। वायुसेना ने पाकिस्तान के बालाकोट में की गई एयर स्ट्राइक में इजरायल से खरीदे गए स्पाइस 2000 बम का इस्तेमाल किया था। इस दौरान वायुसेना ने आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के ठिकानों को ध्वस्त कर दिया था।

Balakots Air Strike Taken With The Help Of This Advance Technique :

दरअसल, 26 फरवरी को हुई एयर स्ट्राइक के दौरान भारत ने 12 मिराज-2000 एयरक्राफ्ट से स्पाइस 2000 बम गिराए थे। भारतीय एयर क्राफ्ट ने लाइन ऑफ कंट्रोल के पार जाकर पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वा प्रांत में जैश के ठिकानों पर स्पाइस 2000 बम से हमला किया था। 70 से 80 किलो वजनी ये बम किसी भी मजबूत इमारत को ध्वस्त करने की क्षमता रखता है। पाक की जिन जगहों पर ये बम गिरे थे, वहां इमारतों में बड़े होल होने की खबर सामने आई थी।

मिली जानकारी के मुताबिक, वायुसेना अब ऐसे बंकर बस्टर या फिर बिल्डिंग डेस्ट्रोयर वर्जन खरीदने की तैयारी कर रही है, जो अपने टारगेट को पूरी तरह से ध्वस्त कर दे। स्पाइस-2000 बम इजराइल से खरीदे गए हैं, जो एयरफोर्स के मुख्य हथियार और युध्द सामग्रियों में से एक है। स्पाइस 2000 का नया वर्जन भी इजराइल से खरीदने की खबर है।

बता दें, जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में इसी साल 14 फरवरी को आतंकियों ने सीआरपीएफ के काफिले पर फिदायीन हमला किया था। इसमें 40 जवान शहीद हुए थे। हमले की जिम्मेदारी पाकिस्तान से संचालित जैश-ए-मोहम्मद आतंकी संगठन ने ली थी। जैश का सरगना आतंकी मसूद अजहर है, जिसे हाल ही में संयुक्त राष्ट्र संघ ने वैश्विक आतंकी घोषित किया है।

नई दिल्ली। भारत तकनीकी रूप से और देशों की बराबरी मैं आ गया है। भारत सरकार हमेशा अपने सैनिकों के लिए नई तकनीक को आजमाती है ऐसे में भारतीय वायुसेना Spice 2000 बम का एडवांस बंकर बस्टर वर्जन खरीदने की तैयारी में है। यह बम किसी भी इमारत और बंकर को पूरी तरह नष्ट करने की क्षमता रखता है। वायुसेना ने पाकिस्तान के बालाकोट में की गई एयर स्ट्राइक में इजरायल से खरीदे गए स्पाइस 2000 बम का इस्तेमाल किया था। इस दौरान वायुसेना ने आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के ठिकानों को ध्वस्त कर दिया था। दरअसल, 26 फरवरी को हुई एयर स्ट्राइक के दौरान भारत ने 12 मिराज-2000 एयरक्राफ्ट से स्पाइस 2000 बम गिराए थे। भारतीय एयर क्राफ्ट ने लाइन ऑफ कंट्रोल के पार जाकर पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वा प्रांत में जैश के ठिकानों पर स्पाइस 2000 बम से हमला किया था। 70 से 80 किलो वजनी ये बम किसी भी मजबूत इमारत को ध्वस्त करने की क्षमता रखता है। पाक की जिन जगहों पर ये बम गिरे थे, वहां इमारतों में बड़े होल होने की खबर सामने आई थी। मिली जानकारी के मुताबिक, वायुसेना अब ऐसे बंकर बस्टर या फिर बिल्डिंग डेस्ट्रोयर वर्जन खरीदने की तैयारी कर रही है, जो अपने टारगेट को पूरी तरह से ध्वस्त कर दे। स्पाइस-2000 बम इजराइल से खरीदे गए हैं, जो एयरफोर्स के मुख्य हथियार और युध्द सामग्रियों में से एक है। स्पाइस 2000 का नया वर्जन भी इजराइल से खरीदने की खबर है। बता दें, जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में इसी साल 14 फरवरी को आतंकियों ने सीआरपीएफ के काफिले पर फिदायीन हमला किया था। इसमें 40 जवान शहीद हुए थे। हमले की जिम्मेदारी पाकिस्तान से संचालित जैश-ए-मोहम्मद आतंकी संगठन ने ली थी। जैश का सरगना आतंकी मसूद अजहर है, जिसे हाल ही में संयुक्त राष्ट्र संघ ने वैश्विक आतंकी घोषित किया है।