1. हिन्दी समाचार
  2. दुनिया
  3. यहां लगा महिलाओं के बुर्का पहनने पर बैन, इसे बताया- धार्मिक कट्टरता का संकेत

यहां लगा महिलाओं के बुर्का पहनने पर बैन, इसे बताया- धार्मिक कट्टरता का संकेत

श्रीलंका की सरकार ने देश में मुस्लिम औरतों के बुर्का पहनने पर बैन लगा दिया है। इतना ही नहीं श्रीलंका में इस्लामिक विद्यालयों को भी प्रतिबंधित कर उन्हें बंद करने का निर्णय लिया गया है।

By आराधना शर्मा 
Updated Date

Ban Imposed On Women Wearing Burqa Told It A Sign Of Religious Bigotry

श्रीलंका: हर धर्म के लोगों का एक खास परिधान होता मुशलिम महिलाए अक्सर बुर्के में ही नजर आती है। लेकिन अगर मै कहूँ कि इस देश में महिलाओं के बुर्के पर बैन लगा दिया गया है तो षड आपको आश्चर्य होगा। लेकिन ये सच है। दरअसल, श्रीलंका की सरकार ने देश में मुस्लिम औरतों के बुर्का पहनने पर बैन लगा दिया है। इतना ही नहीं श्रीलंका में इस्लामिक विद्यालयों को भी प्रतिबंधित कर उन्हें बंद करने का निर्णय लिया गया है।

पढ़ें :- मोदी से मदद के सवाल पर बोले चिराग- अगर हनुमान को राम से मदद मांगनी पड़े तो फिर काहे के राम?

सरकार के एक मंत्री ने शनिवार को बताया कि श्रीलंका बुर्का पहनने तथा एक हजार से ज्यादा इस्लामिक विद्यालयों पर बैन लगा रहा है। सार्वजनिक सुरक्षा मंत्री सरथ वेरासेकेरा ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इस निर्णय की खबर दी। उन्होंने कहा, मुस्लिम औरतों द्वारा पहने जाने वाले बुर्का अथवा फिर पूरी प्रकार चेहरा ढकने वाले कपड़े को “राष्ट्रीय सुरक्षा” के आधार पर पूर्ण तौर पर प्रतिबंधित किया जा रहा है।

धार्मिक कट्टरता का संकेत

आपको बता दें, इसके लिए मंत्रीमंडल की अनुमति भी प्राप्त हो गई है तथा आदेश पर हस्ताक्षर भी किए जा चुके हैं। मंत्री वेरासेकेरा ने कहा, “हमारे आरभिंक दिनों में मुस्लिम महिलाओं तथा लड़कियों ने कभी बुर्का नहीं पहना था,” उन्होंने कहा, “यह हाल ही में आए धार्मिक कट्टरता का संकेत है। हम निश्चित तौर पर इस पर बैन लगाने जा रहे हैं।

बहुसंख्यक-बौद्ध राष्ट्र श्रीलंका में इस्लामी दहशतगर्दों द्वारा चर्च तथा होटलों पर बमबारी करने के पश्चात् सुरक्षा को लेकर वर्ष 2019 में अस्थायी तौर पर बुर्का पहनने पर बैन लगा दिया गया था। इस हमले में 250 से अधिक व्यक्ति मारे गए थे। बता दें कि श्रीलंका में एक दशक पुराने उग्रवाद को कुचलने में महत्वपूर्ण किरदार निभाने वाले गोतबाया राजपक्षे ने वर्ष 2019 के चुनाव में आतंकवाद पर लगाम लगाने का वादा किया था।

पढ़ें :- जि‍नेवा समिट शुरू : जो बाइडेन और व्लादिमीर पुतिन ने मिलाया हाथ, इन मुद्दों पर चर्चा की उम्मीद

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
X