1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. Banda DM ने ड्राइवर को दी रिटायरमेंट पर यादगार विदाई, हर कोई कर रहा है तारीफ

Banda DM ने ड्राइवर को दी रिटायरमेंट पर यादगार विदाई, हर कोई कर रहा है तारीफ

यूपी के बांदा जिले के जिलाधिकारी अनुराग पटेल (District Magistrate of Banda District Anurag Patel) ने बीते शनिवार को ऐसी मिसाल पेश की है। जिसकी आज हर तरफ तारीफ कर रहा है। बता दें कि डीएम अनुराग पटेल ने शनिवार को अपने सरकारी ड्राइवर को रिटायरमेंट पर अनोखे अंदाज में विदाई दी है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

बांदा। यूपी के बांदा जिले के जिलाधिकारी अनुराग पटेल (District Magistrate of Banda District Anurag Patel) ने बीते शनिवार को ऐसी मिसाल पेश की है। जिसकी आज हर तरफ तारीफ कर रहा है। बता दें कि डीएम अनुराग पटेल ने शनिवार को अपने सरकारी ड्राइवर को रिटायरमेंट पर अनोखे अंदाज में विदाई दी है।

पढ़ें :- इंडस्ट्री ने खोया दिग्गज सितारा, लेजेंडरी सिंगर वाणी जयराम का हुआ निधन

जिलाधिकारी अनुराग पटेल (District Magistrate Anurag Patel) के सरकारी ड्राइवर इम्त्याजुद्दीन खान (Government Driver Imtyazuddin Khan) शनिवार को रिटायर हो गए। डीएम अनुराग पटेल (DM Anurag Patel) ने अपने ड्राइवर की विदाई को यादगार बनाने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ी। इस मौके पर उन्होंने खुद गाड़ी चलाते हुए अपनी सीट पर बैठाकर अपने ड्राइवर को घर तक छोड़कर आए।

डीएम अनुराग पटेल (DM Anurag Patel)  ने इम्त्याजुद्दीन खान (Imtyazuddin Khan) का पहले फूल माला पहनाकर अभिनंदन किया। इसके बाद उन्हें स्मृति चिह्न देकर शुभकामनाएं दी। साथ ही जिलाधिकारी अनुराग पटेल (DM Anurag Patel) ने गाड़ी को फूल माला से सजवाकर ड्राइवर को खुद घर तक छोड़ा। इस नजारे को जिनसे भी देखा वो हैरान रह गया।

इस अवसर प र इम्तयाजुद्दीन खान (Imtyazuddin Khan)  उर्फ मुख्तार ने कहा उन्होंने दो 2 दर्जन से ज्यादा कलेक्टर्स की सेवा की है, लेकिन ऐसा कलेक्टर पहली बार देखा है, जो अपने कर्मचारियों को इतना सम्मान दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि यह मेरे लिए गर्व की बात है, मैं जब साहब को घर लेकर जाना चाहा तो वो मेरी सीट पर जाकर बैठ गए और खुद गाड़ी चलाकर मुझे घर तक छोड़ने गए। मुझे इतना सम्मान दिया, मैं बहुत खुश हूं।

वहीं डीएम अनुराग पटेल (DM Anurag Patel)  ने बताया कि कलेक्टर को समय से हर जगह पहुंचाते हैं, पूरे दिन साथ साथ रहते हैं। उन्होंने कहा कि ‘मैं पूरे स्टाफ को अपना परिवार मानता हूं, उसी क्रम में मेरे ड्राइवर इम्तयाजुद्दीन खान (Imtyazuddin Khan) रिटायर हुए हैं। मैं उनका स्वागत कर उन्हें खुद गाड़ी ड्राइव कर घर छोड़कर आया हूं।

पढ़ें :- स्वामी प्रसाद मौर्य के बयान से बढ़ा सियासी पारा, ट्वीट कर लिखा-कदम-कदम पर जातीय अपमान की पीड़ा से व्यथित होकर...

यह नजारा देख उनके घर के लोग भी बहुत खुश हुए, मैं उनके उज्जवल भविष्य की कामना करता हूं। उन्होंने 42 साल तक अपना परिवार, रिश्तदार छोड़ सेवा की है। मेरे साथ पिछले 7 महीने से काम कर रहे थे। चालक और अधिकारी का संबंध रति और सारथी का होता है। उन्होंने कहा कि रिटायर के बाद मैं उनसे अपेक्षा करता हूं कि कुछ न कुछ जरूर करते रहें और जीवन को सुखमय बनाए। मैं उनके दीर्घायु की कामना करता हूं।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...