ईडन गार्डन्स स्टेडियम बनेगा ऐतिहासिक क्षण का गवाह, टीम इंडिया खेलेगी पहला डे-नाइट टेस्ट

kolkata
ईडन गार्डन्स स्टेडियम बनेगा ऐतिहासिक क्षण का गवाह, टीम इंडिया खेलेगी पहला डे-नाइट टेस्ट

नई दिल्ली। भारत और बांग्लादेश के बीच 22 नवंबर से ईडन गार्डन में खेला जाने वाला दूसरा टेस्ट मैच दिन-रात्रि होगा। इस बात की पुष्टि बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली ने कर दी है। सौरभ गांगुली ने बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड को इस दौरे पर पिंक बॉल टेस्ट  मैच का प्रस्ताव दिया था, जिसे बीसीबी ने स्वीकार कर लिया है। यानी भारत और बांग्लादेश की टीमें क्रिकेट इतिहास में पहली बार पिंक बॉल क्रिकेट से खेलने उतरेगी।  

Bangladesh Agree To Play Day Night Test At Eden Gardens :

सौरव गांगुली ने कहा, ‘यह अच्छा डेवलपमेंट है। टेस्ट क्रिकेट में इसकी जरुरत थी। मैं और मेरी टीम विराट कोहली को इसके लिए धन्यवाद देते हैं, जो दिन-रात टेस्ट मैच के लिए तैयार हुए।’ गांगुली ने हमेशा से पिंक बॉल क्रिकेट की वकालत की है। वह 2016-17 में जब तकनीकी समिति के सदस्य थे, तब उन्होंने घरेलू क्रिकेट में भी पिंक बॉल के उपयोग की सिफारिश की थी। गांगुली ने उसी समय दिन-रात के मैच की वकालत की थी।

बांग्लादेश टीम के कोच रसेल डोमिंगो ने कहा, “ईडन गार्डन्स स्टेडियम में भारत के खिलाफ एक बड़ा मैच होगा। यह शानदार अवसर है। भारत ने भी अब तक दिन-रात का टेस्ट नहीं खेला है। यह दोनों टीमों के लिए नया है और दोनों को एक दूसरे के करीब लाएगा।”

यह भारत का पहला दिन-रात का टेस्ट मैच होगा। साथ ही यह भारत में खेला जाने वाला पहला दिन-रात का टेस्ट होगा। भारतीय टीम हालांकि इससे पहले दिन-रात के टेस्ट मैच को लेकर राजी नहीं थी। भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने बीसीसीआई अध्यक्ष पद सम्भालने के बाद दिन-रात का टेस्ट खेलने को लेकर कप्तान विराट कोहली को मना लिया था।

बता दें कि इस टेस्ट मैच के दौरान अभिनव बिंद्रा, एमसी मैरीकॉम और पीवी सिंधु जैसे दिग्गज ओलंपिक पदक विजेताओं को आमंत्रण करने की योजना है। गांगुली ने कहा था, ”हमें उन्हें आमंत्रित करना चाहते है और उन्हें सम्मानित करने की योजना बना रहे हैं। इसमें स्कूली बच्चों को भी स्टेडियम लाने की योजना है, जिसके लिए उन्हें मुफ्त पास दिए जाएंगे।”

नई दिल्ली। भारत और बांग्लादेश के बीच 22 नवंबर से ईडन गार्डन में खेला जाने वाला दूसरा टेस्ट मैच दिन-रात्रि होगा। इस बात की पुष्टि बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली ने कर दी है। सौरभ गांगुली ने बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड को इस दौरे पर पिंक बॉल टेस्ट  मैच का प्रस्ताव दिया था, जिसे बीसीबी ने स्वीकार कर लिया है। यानी भारत और बांग्लादेश की टीमें क्रिकेट इतिहास में पहली बार पिंक बॉल क्रिकेट से खेलने उतरेगी।   सौरव गांगुली ने कहा, 'यह अच्छा डेवलपमेंट है। टेस्ट क्रिकेट में इसकी जरुरत थी। मैं और मेरी टीम विराट कोहली को इसके लिए धन्यवाद देते हैं, जो दिन-रात टेस्ट मैच के लिए तैयार हुए।' गांगुली ने हमेशा से पिंक बॉल क्रिकेट की वकालत की है। वह 2016-17 में जब तकनीकी समिति के सदस्य थे, तब उन्होंने घरेलू क्रिकेट में भी पिंक बॉल के उपयोग की सिफारिश की थी। गांगुली ने उसी समय दिन-रात के मैच की वकालत की थी। बांग्लादेश टीम के कोच रसेल डोमिंगो ने कहा, “ईडन गार्डन्स स्टेडियम में भारत के खिलाफ एक बड़ा मैच होगा। यह शानदार अवसर है। भारत ने भी अब तक दिन-रात का टेस्ट नहीं खेला है। यह दोनों टीमों के लिए नया है और दोनों को एक दूसरे के करीब लाएगा।” यह भारत का पहला दिन-रात का टेस्ट मैच होगा। साथ ही यह भारत में खेला जाने वाला पहला दिन-रात का टेस्ट होगा। भारतीय टीम हालांकि इससे पहले दिन-रात के टेस्ट मैच को लेकर राजी नहीं थी। भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने बीसीसीआई अध्यक्ष पद सम्भालने के बाद दिन-रात का टेस्ट खेलने को लेकर कप्तान विराट कोहली को मना लिया था। बता दें कि इस टेस्ट मैच के दौरान अभिनव बिंद्रा, एमसी मैरीकॉम और पीवी सिंधु जैसे दिग्गज ओलंपिक पदक विजेताओं को आमंत्रण करने की योजना है। गांगुली ने कहा था, ''हमें उन्हें आमंत्रित करना चाहते है और उन्हें सम्मानित करने की योजना बना रहे हैं। इसमें स्कूली बच्चों को भी स्टेडियम लाने की योजना है, जिसके लिए उन्हें मुफ्त पास दिए जाएंगे।''