नोटबंदी में बैंककर्मियों की मिली भगत से फर्जी खातों से बदली जा रही पुरानी करेंसी

नईदिल्ली। पिछले कुछ दिनों देश के अलग अलग कोनों से बड़े स्तर पर नई करेंसी बरामद होने की खबरें आ रहीं हैं। कई जगहों से लाखों तो कई जगहों से करोड़ों की नई करेंसी पकड़ी जा चुकी है। ऐसी खबरें उन परस्थितियों सामने आ रहीं हैं जब देश की 90 फीसदी आबादी अपनी रोज की जरूरत को पूरा करने के लिए बैंक और एटीएम की लाइन में धक्के खाने को मजबूर है।




ऐसी खबरों का पर्दाफाश आयकर टीम की छापेमारी में हुआ है, जिसमें सामने आया है कि नोटबंदी लागू होने के बाद से बैंकों में फर्जी खाताधारकों की संख्या में बड़ी वृद्धि हुई है। कालाधन छिपाने के लिए कुछ लोग फर्जी खातों का इस्तेमाल कर पुरानी करेंसी को बदलने की न सिर्फ जुगत में लगे हैं बल्कि बड़ी तादात में ऐसे खातों से पुरानी करेंसी के बदले नई करेंसी जारी की जा रही है। ऐसे खातों को चि​न्हित करने में लगी आयकर की टीम ने शुक्रवार को दिल्ली के चाँदनीं चौक इलाके की एक्सिस बैंक की एक ब्रांच में छापेमारी कर 44 खाते सीज किए हैं।




मिली जानकारी के मुताबिक आयकर विभाग के अधिकारियों द्वारा सीज किए गए खातों में करीब 100 करोड़ की पुरानी करेंसी जमा करवाई गई है। ये सभी खाते KYC नामर्स के आधार पर चिन्हित किए गये थे। जिसके बाद हुई आयकर विभाग की कार्रवाई में समाने आया है कि नोटबंदी के बाद से एक्सिस बैंक ​की इस ब्रांच में करीब 450 करोड़ रूपये की पुरानी नगदी पिछले एक माह में जमा हो चुकी है।




आपको बता दें कि यह आयकर विभाग की हाल में हुई दूसरी बड़ी ​छापेमारी है। इससे पहले इसी इलाके के कश्मीरी गेट की एक्सिस बैंक ब्रांच से 2 मैनेजरों को गिरफ्तार किया गया था। जिनके पास से 3 किलोग्राम सोने के बिस्किट भी जप्त किए गये थे। आईटी के अधिकारियों को आशंका थी की ये बैंक कर्मी पुरानी करेंसी को नई करेंसी में बदलने वाले मनी लांड्रिंग रैकेट से जुड़े हैं।