वेतन संबंधी मांग को लेकर बैंक कर्मचारी आज हड़ताल पर रहेंगे

लखनऊ। सरकारी बैंकों के साथ ही कुछ निजी, विदेशी, क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक और सहकारी बैंकों के कर्मचारियों के मंगलवार को हड़ताल पर रहने से कामकाज प्रभावित होने की आशंका है। कई बैंकों ने इस संबंध में बीएसई को पहले भेजे नोटिस में कहा था कि 28 फरवरी को विभिन्न कर्मचारी संगठनों ने हड़ताल पर रहने का नोटिस दिया है जिससे कामकाज प्रभावित हो सकता है और ग्राहकों को असुविधा हो सकती है।




कर्मचारी संगठनों ने बैंकिंग उद्योग से जुड़ी मांगों को लेकर हड़ताल करने की चेतावनी दी है। इस हड़ताल का नोटिस देने वाले श्रमिक संगठनों में एआईबीइए, एआईबीओसी, एआईबीओए, बीईएफआई, एनसीबीई, आईएनबीईएफ, एनओबीडब्ल्यू और आईएनबीओसी एनओबीओ शामिल हैं।

सार्वजनिक क्षेत्र के बड़े बैंकों स्टेट बैंक, पंजाब नेशनल बैंक और बैंक ऑफ बड़ौदा सहित कई बैंकों ने अपने ग्राहकों को पहले ही सूचित कर दिया है कि यदि हड़ताल होती है तो उनकी शाखाओं में कामकाज प्रभावित हो सकता है। हालांकि, यूएफबीयू में शामिल दो बैंक यूनियनों नेशनल आर्गनाइजेशन ऑफ बैंक वर्कर्स और नेशनल आर्गनाईजेशन ऑफ बैंक आफीसर्स इस हड़ताल में शामिल नहीं हैं। इन संगठनों ने इस हड़ताल को राजनीति से प्रभावित कदम बताया है। इन संगठनों का कहना है कि वह इस हड़ताल में शामिल नहीं है इसलिये इसे यूएफबीयू की हड़ताल कहना सरासर गलत है।




यूएफबीयू में शामिल दो बैंक यूनियन नेशनल आर्गनाइजेशन ऑफ बैंक वर्कर्स और नेशनल आर्गनाईजेशन ऑफ बैंक आफिसर्स इस हड़ताल में शामिल नहीं हैं। इन संगठनों ने हड़ताल को राजनीति से प्रभावित कदम बताया है। संगठनों का कहना है कि वह इस हड़ताल में शामिल नहीं है इसलिए इसे यूएफबीयू की हड़ताल कहना सरासर गलत है।