जानिए 8 दिसंबर के बाद कौन-कौन से नोट नहीं लेंगे बैंक

new-note

नई दिल्ली। आजकल सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा आई कि जल्द ही 500-2000 वाले सभी नोट बंद हो जाएंगे। बता दें कि सोशल मीडिया पर वायरल होने वाली यह खबर पूरी तरह से सच नहीं है। आरबीआई द्वारा जारी किए गए निर्देश में यह स्पष्ट किया गया है कि अगर नोट पर कोई भी संदेश लिखा रहता है तो बैंक उसे स्वीकार नहीं करेगी।

Bank Will Not Accept New Note Of Rupees 500 And 2000 :

आरबीआई ने अपने नए आदेश में बताया कि नोट बंद नहीं होंगे बल्कि अमान्य हो जाएंगे। बाजार में ये नोट चलेंगे लेकिन बैंक इन्हें जमा नहीं करेगा। नोट के मान्य न होने का ये कोई नया नियम नहीं है बल्कि नोटबंदी 2016 के बाद आरबीआई ने ‘एक्सचेंज ऑफ नोट्स’ नोटिफिकेशन में यह नियम जारी किया था। आरबीआई का यह नोटिफिकेशन उसकी वेबसाइट पर भी मौजूद है।

आरबीआई ने स्पष्ट किया कि सोशल मीडिया पर किए जाने वाले ऐसे दावे सच नहीं हैं। आरबीआई जब भी इस तरह के नियम जारी करता है तो उसका नोटिफिकेशन मीडिया में जारी किया जाता है। ऐसे नोटों के संबंध में भी नियम 2016 में किया गया था।

सोशल मीडिया में यह भी ख़बर आ रही है कि 1 जनवरी 2018 से 1000 का नया नोट आ जायेगा। लेकिन RBI ने ऐसी ख़बरों का खंडन किया है।

नई दिल्ली। आजकल सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा आई कि जल्द ही 500-2000 वाले सभी नोट बंद हो जाएंगे। बता दें कि सोशल मीडिया पर वायरल होने वाली यह खबर पूरी तरह से सच नहीं है। आरबीआई द्वारा जारी किए गए निर्देश में यह स्पष्ट किया गया है कि अगर नोट पर कोई भी संदेश लिखा रहता है तो बैंक उसे स्वीकार नहीं करेगी। आरबीआई ने अपने नए आदेश में बताया कि नोट बंद नहीं होंगे बल्कि अमान्य हो जाएंगे। बाजार में ये नोट चलेंगे लेकिन बैंक इन्हें जमा नहीं करेगा। नोट के मान्य न होने का ये कोई नया नियम नहीं है बल्कि नोटबंदी 2016 के बाद आरबीआई ने 'एक्सचेंज ऑफ नोट्स' नोटिफिकेशन में यह नियम जारी किया था। आरबीआई का यह नोटिफिकेशन उसकी वेबसाइट पर भी मौजूद है।आरबीआई ने स्पष्ट किया कि सोशल मीडिया पर किए जाने वाले ऐसे दावे सच नहीं हैं। आरबीआई जब भी इस तरह के नियम जारी करता है तो उसका नोटिफिकेशन मीडिया में जारी किया जाता है। ऐसे नोटों के संबंध में भी नियम 2016 में किया गया था।सोशल मीडिया में यह भी ख़बर आ रही है कि 1 जनवरी 2018 से 1000 का नया नोट आ जायेगा। लेकिन RBI ने ऐसी ख़बरों का खंडन किया है।