टिकट कटने से दुखी भाजपा महिला सांसद के आंसू झलके, लगाया गंभीर आरोप

c

लखनऊ। लोकसभा चुनाव में टिकट कटने के बाद गुरुवार को कार्यकर्ताओं के सामने सांसद प्रियंका सिंह रावत के आंसू छलक पड़े। इस दौरान सांसद ने आरोप लगाते हुए कहा कि आखिर उनकी गलती क्या थी जो टिकट काट दिया गया। उन्होंने शीर्ष नेतृत्व का भी इस ओर ध्यान आकृष्ट कराया है।

Barabanki Mp Priyanka Singh Get Emotional After Not Getting Ticket :


जबकि सांसद के समर्थकों ने शहर समेत ग्रामीण इलाकों में कई जगह प्रदर्शन करते हुए जिले के भाजपा नेताओं के खिलाफ नारेबाजी कर आक्रोश जताया। समर्थक प्रियंका लाओ, भाजपा बचाओ के नारे लगाते रहे। सांसद के घर पहुंचे समर्थकों को जब उन्होंने समझाया तो वह वापस लौटे। भाजपा सांसद प्रियंका सिंह रावत का टिकट काटे जाने से वह इस कदर आहत हुईं कि नेतृत्व पर सवाल खड़ा करते हुए कहा कि आखिर उनका टिकट क्यों काटा गया।

सांसद ने कहा कि अब उधर से जो जवाब आएगा उसके बाद रणनीति तय करेंगी। बताते चले कि कि मौजूदा सांसद प्रियंका सिंह रावत का टिकट काट कर विधायक उपेन्द्र सिंह रावत को इस बार मैदान में उतारा है। टिकट कटने से नाराज प्रियंका सिंह रावत ने नेतृत्व की मानसिकता पर ही सवाल खड़ा करते हुए कहा कि प्रदेश में जिन सांसदों के टिकट काटे गए है वह सभी सुरक्षित सीटों के सांसदों के ही हैं।

क्या सामान्य सीटों के सांसदों का काम ठीक था आखिर सारा फेरबदल सुरक्षित सीटों पर ही क्यों किया गया। प्रियंका सिंह रावत ने कहा कि वह जनता के लिए बीमार होने के बावजूद उनके साथ खड़ी रहीं जब कुछ अराजकतत्वों ने जनपद में दंगा करवाना चाहा तो उनके मंसूबे कामयाब नहीं होने दिए। इस दौरान सांसद के आंखों से आंसू भी छलक पड़े।

लखनऊ। लोकसभा चुनाव में टिकट कटने के बाद गुरुवार को कार्यकर्ताओं के सामने सांसद प्रियंका सिंह रावत के आंसू छलक पड़े। इस दौरान सांसद ने आरोप लगाते हुए कहा कि आखिर उनकी गलती क्या थी जो टिकट काट दिया गया। उन्होंने शीर्ष नेतृत्व का भी इस ओर ध्यान आकृष्ट कराया है।


जबकि सांसद के समर्थकों ने शहर समेत ग्रामीण इलाकों में कई जगह प्रदर्शन करते हुए जिले के भाजपा नेताओं के खिलाफ नारेबाजी कर आक्रोश जताया। समर्थक प्रियंका लाओ, भाजपा बचाओ के नारे लगाते रहे। सांसद के घर पहुंचे समर्थकों को जब उन्होंने समझाया तो वह वापस लौटे। भाजपा सांसद प्रियंका सिंह रावत का टिकट काटे जाने से वह इस कदर आहत हुईं कि नेतृत्व पर सवाल खड़ा करते हुए कहा कि आखिर उनका टिकट क्यों काटा गया।

सांसद ने कहा कि अब उधर से जो जवाब आएगा उसके बाद रणनीति तय करेंगी। बताते चले कि कि मौजूदा सांसद प्रियंका सिंह रावत का टिकट काट कर विधायक उपेन्द्र सिंह रावत को इस बार मैदान में उतारा है। टिकट कटने से नाराज प्रियंका सिंह रावत ने नेतृत्व की मानसिकता पर ही सवाल खड़ा करते हुए कहा कि प्रदेश में जिन सांसदों के टिकट काटे गए है वह सभी सुरक्षित सीटों के सांसदों के ही हैं।

क्या सामान्य सीटों के सांसदों का काम ठीक था आखिर सारा फेरबदल सुरक्षित सीटों पर ही क्यों किया गया। प्रियंका सिंह रावत ने कहा कि वह जनता के लिए बीमार होने के बावजूद उनके साथ खड़ी रहीं जब कुछ अराजकतत्वों ने जनपद में दंगा करवाना चाहा तो उनके मंसूबे कामयाब नहीं होने दिए। इस दौरान सांसद के आंखों से आंसू भी छलक पड़े।