बाराबंकी में जर्जर भवन की दीवार गिरने से तीन गंभीर जख्मीं

बाराबंकी। शहर के दर्पण टाकीज के निकट स्थित श्रीनाथ मार्केट में मीना बाजार के बगल वाली दुकान की दीवार अचानक देर रात ढ़ह जाने से तीन-चार लोगों के दबकर बुरी तरह जख्मीं हो गए| आसपास के निवासियों व दुकानदारों ने बताया कि सूचना के बाद काफी देर तक 108 एम्बुलेंस नहीं पहुंची| दुकानदारों ने अन्य लोगों की मदद से घायलों को रिक्शे पर लाकर जिला चिकित्सालय इलाज के लिए भर्ती कराया| जहां पर हालत खराब देख घायलों को लखनऊ ट्रामासेंटर रेफर कर दिया गया | जनपद के चिकित्सालय में गंभीर घायलों के इलाज की करोड़ों खर्चा होने के बाद भी व्यवस्था परिपूर्ण न होने पर आक्रोश व्यक्त किया है|





आसपास के निवासियों ने बताया कि पूरी मार्केट काफी दिनों से जर्जर थी। बर्तन की दुकान कर रहे विनोद कुमार वर्मा ‘गुड्डू’ ने बताया कि आधी ही दीवार गिरी है आधी अभी भी झूल रही है जो कभी भी गिर सकती है।घटना की सूचना मिलने पर एसपी राजूबाबू सिंह, एडीएम अनिल कुमार सिंह, विधायक धर्मराज यादव उर्फ सुरेश यादव, पूर्व ब्लॉक प्रमुख सुरेंद्र सिंह, कोतवाल बीपी यादव सहित व्यापार मंडल के नेताओं का जमावाड़ा लग गया|

मंगलवार की देर रात करीब नौ बजे मुख्य बाजार में दर्पण टाकीज से लगी मार्केट में एक पुरानी दुकान की मुख्य मार्ग की तरफ की दीवार अचानक भरभरा कर गिर गई। अचानक दीवार गिरने से उसके नीचे कई लोग दब गए। सूचना मिलने पर पहुंची आदर्श कोतवाली नगर के सिटी चैकी पुलिस ने आसपास के लोगों के सहयोग से गिरी दीवार के नीचे से तीन लोगों को किसी तरह निकाला है जो बुरी तरह जख्मीं है। जख्मीं लोगों में एक का नाम दीपू लोगों ने बताया, बाकी दो अन्य में एक जायसवाल बताया जा रहा है| घायलों को निकट के दुकानदारो ने आनन-फानन में जिला चिकित्सालय भर्ती कराया है।



गिरी दीवार में कुछ हिस्से में पहले इंद्रपाल यादव व चंदन का चाय का होटल था। दुकान सहित पूरी इमारत के जर्जर होने की शिकायत संपत्ति मालिकान ने नगर पालिका परिषद प्रशासन व जरिए कोर्ट भी करके इमारत को गिरवाने की अनुमति मांगी थी| लेकिन मिल्कियत ज्यादा होने के चक्कर में कब्जेदार इमारत खाली करने को तैयार नहीं थे| मीना मार्केट से लगी पूरी दीवार काफी दिनों से जर्जर थी। उल्लेखनीय है कि इसकों लेकर कई बार नगर पालिका प्रशासन को इस बारे में सूचित भी किया था।

लेकिन बावजूद इसके इस तरफ किसी जिम्मेदार ने ध्यान देना जरूरी नहीं समझा जो इस हादसे की सूत्रधार साबित हुआ। बर्तन दुकानदार ने जानकारी देते हुए बताया कि आधी दीवार अभी भी झूल रही है जो कभी भी गिर सकती है। लोगों की मानें तो पूरी मार्केट ही काफी जर्जर हो चुकी है। जिससे आगे भी हादसा पेश आ सकता है। दुका’दारों नेबताया कि घटना की सूचना के बाद जेसीबी तो मौके पर पहुंच गई लेकिन मौके पर 108 एम्बुलेंस नहीं पहुंची|