गर्भ में पल रही थी बेटी, गर्भपात कराकर कर दी हत्या

बाराबंकी: उत्तर प्रदेश की बाराबंकी जनपद में एक ऐसा मामला देखने को मिला है जिसे सुनकर हर कोई हैरान है। गर्भ में पल रही बेटी का ससुराल वालो ने एक चिकित्सक के यहां परीक्षण कराने के बाद गर्भपात करा दिया। मामला तब तूल पकड़ा जब गर्भपात के बाद अत्याधिक रक्त स्रव के कारण युवती की मौत हो गई। इस मामले में मृतका के पिता की तहरीर पर पति व सास के विरूद्ध मुकदमा दर्ज किया गया है।




बताया जा रहा है कि थाना खैरीघाट के ग्राम गुजरातीपुरवा निवासी परिक्रमा दीन की पुत्री सुनीता (19) का विवाह रामगांव थाना क्षेत्र के ग्राम नौतला निवासी अनुज के साथ लगभग डेढ़ साल पहले हुआ था। सुनीता के पिता परिक्रमा का कहना है कि सुनीता के ससुराल वाले चाहते थे कि वह पुत्र को जन्म दे। ससुराल वाले उसे धमकी दे रहे थे कि यदि बेटी जन्म दिया तो घर से निकाल देंगे। परिक्रमा ने कहा है कि सुनीता के चार माह से गर्भवती होने की जानकारी मिलने पर ससुराल वाले उसे एक चिकित्सक के यहां गए जहां उसका गर्भ की जांच कराई गई, जिसमें यह बताया गया कि उसके गर्भ में बेटी पल रही है, जिससे नाराज होकर ससुराल वाले सुनीता को गर्भपात कराने के लिए मजबूर करने लगे।

सुनीता के पिता का कहना है कि कुछ दिन पूर्व सुनीता की सास व पति ने उसको मारा पीटा तथा डरा धमका कर फिर चिकित्सक के यहां ले गए और उसका गर्भपात करवा दिया। इसके बाद सुनीता की हालत बिगड़ने लगी। अत्यधिक रक्त स्रव के कारण जब गर्भपात कराने वाला चिकित्सक ने सुनीता की हालत गम्भीर देखी तो उसे जिला चिकित्सालय ले जाने की सलाह दे दी। बताते हैं कि अस्पताल लाते समय रास्ते में ही सुनीता की मौत हो गई।




सुनिता की मौत की जानकारी मिलने पर मायके वाले उसके ससुराल पहुंचे। परिक्रमा दीन ने थाने पर तहरीर देकर सास व पति के विरूद्ध भ्रूण हत्या व दहेज उत्पीड़न का मामला दर्ज कराया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। दूसरी ओर मुख्य चिकित्साधिकारी और डा. अरूण लाल ने कहा है कि इस पूरे मामले की जांच कराकर दोषी चिकित्सक व अल्ट्रा साउंड करने वालों के विरूद्ध कार्यवाई की जाएगी।