बीजेपी विधायक की बेटी ने की लव मैरिज इलाहाबाद हाईकोर्ट से मांगी सुरक्षा

g

बरेली। उत्तर प्रदेश बरेली के बीजेपी विधायक राजेश मिश्र की बेटी साक्षी ने इलाहाबाद हाईकोर्ट में याचिका दाखिल कर सुरक्षा की गुहार लगाई है। बरेली जिले के राजेश मिश्र की बेटी ने फरीदपुर विधायक के भांजे के साथ मंदिर में प्रेम विवाह कर लिया। अंतरजातीय विवाह करने के कारण साक्षी ने हाईकोर्ट में सुरक्षा के लिए याचिका लगाई हैए जिसपर आज हाईकोर्ट सुनवाई करेगा।

Bareilly Bjp Mla Rajesh Mishra Daughter Approaches In Allahabad High Court For Security :

याचिका में साक्षी ने अपने पिता और परिवार के दूसरे लोगों से जान का खतरा बताया है। साक्षी की इस अर्जी को हाईकोर्ट ने स्वीकार कर लिया है। साक्षी ने अपनी अर्जी में खुद को बालिग बताते हुए अपनी मर्जी से शादी की बात भी कही है। साक्षी का आरोप है कि उसके विधायक पिता और परिवार के दूसरे लोग उनकी शादी का विरोध कर रहे हैं।

साक्षी ने अदालत से अपने और पति के लिए सुरक्षा मुहैया कराए की मांग की है। याचिका में बरेली पुलिस पर भी विधायक पिता के दबाव में काम करने का आरोप लगाया गया है। आपको बता दें कि विधायक राजेश की बेटी ने बीते चार जुलाई को प्रयागराज में एक मंदिर में अजितेश कुमार के साथ हिंदू रीति रिवाज से शादी की थी।

शादी के बाद से ही विधायक की बेटी और अजितेश घर से गायब हैं। अजितेश फरीदपुर विधायक का रिश्तेदार बताया जा रहा है। दरअसल इज्जतनगर का रहने वाले युवक का विधायक के घर आना जाना था। युवक जिले के ही एक विधायक के दूर के रिश्ते का भांजा है।

युवक की विधायक के बेट से दोस्ती थी। इस दौरान युवक के विधायक की बेटी की प्रेम संबंध बन गए और पिछले सप्ताह युवक विधायक की बेटी को लेकर लापता हो गया। शुरुआत में खोजबीन के बाद दोनों की लोकेशन वाराणसी में मिली जिसके इनको ढूंढऩे के लिए परिजन वाराणसी पहुंचे लेकिन वो हाथ नहीं लगे।

दोनों प्रयागराज पहुंचे और प्राचीन राम जानकी मंदिर में विवाह कर लिया। दोनों ने शादी का प्रमाणपत्र के साथ एक वीडियो सोशल मीडिया पर डालकर बरेली के मंत्रियो से मदद की गुहार लगाई है। युवती ने अपने पिता और उनके दोस्तों से जान का खतरा बताया है।

वहीं बेटी के आरोप पर सफाई देेते हुए विधायक राजेश मिश्र ने कहा है कि उन पर लगे आरोप गलत हैं। बेटी बालिग है और अपनी मर्जी से जीवन जीने का अधिकार उसके पास है। वह अपने क्षेत्र में मौजूद हैं और जनता के लिए काम कर रहे हैं।

बरेली। उत्तर प्रदेश बरेली के बीजेपी विधायक राजेश मिश्र की बेटी साक्षी ने इलाहाबाद हाईकोर्ट में याचिका दाखिल कर सुरक्षा की गुहार लगाई है। बरेली जिले के राजेश मिश्र की बेटी ने फरीदपुर विधायक के भांजे के साथ मंदिर में प्रेम विवाह कर लिया। अंतरजातीय विवाह करने के कारण साक्षी ने हाईकोर्ट में सुरक्षा के लिए याचिका लगाई हैए जिसपर आज हाईकोर्ट सुनवाई करेगा। याचिका में साक्षी ने अपने पिता और परिवार के दूसरे लोगों से जान का खतरा बताया है। साक्षी की इस अर्जी को हाईकोर्ट ने स्वीकार कर लिया है। साक्षी ने अपनी अर्जी में खुद को बालिग बताते हुए अपनी मर्जी से शादी की बात भी कही है। साक्षी का आरोप है कि उसके विधायक पिता और परिवार के दूसरे लोग उनकी शादी का विरोध कर रहे हैं। साक्षी ने अदालत से अपने और पति के लिए सुरक्षा मुहैया कराए की मांग की है। याचिका में बरेली पुलिस पर भी विधायक पिता के दबाव में काम करने का आरोप लगाया गया है। आपको बता दें कि विधायक राजेश की बेटी ने बीते चार जुलाई को प्रयागराज में एक मंदिर में अजितेश कुमार के साथ हिंदू रीति रिवाज से शादी की थी। शादी के बाद से ही विधायक की बेटी और अजितेश घर से गायब हैं। अजितेश फरीदपुर विधायक का रिश्तेदार बताया जा रहा है। दरअसल इज्जतनगर का रहने वाले युवक का विधायक के घर आना जाना था। युवक जिले के ही एक विधायक के दूर के रिश्ते का भांजा है। युवक की विधायक के बेट से दोस्ती थी। इस दौरान युवक के विधायक की बेटी की प्रेम संबंध बन गए और पिछले सप्ताह युवक विधायक की बेटी को लेकर लापता हो गया। शुरुआत में खोजबीन के बाद दोनों की लोकेशन वाराणसी में मिली जिसके इनको ढूंढऩे के लिए परिजन वाराणसी पहुंचे लेकिन वो हाथ नहीं लगे। दोनों प्रयागराज पहुंचे और प्राचीन राम जानकी मंदिर में विवाह कर लिया। दोनों ने शादी का प्रमाणपत्र के साथ एक वीडियो सोशल मीडिया पर डालकर बरेली के मंत्रियो से मदद की गुहार लगाई है। युवती ने अपने पिता और उनके दोस्तों से जान का खतरा बताया है। वहीं बेटी के आरोप पर सफाई देेते हुए विधायक राजेश मिश्र ने कहा है कि उन पर लगे आरोप गलत हैं। बेटी बालिग है और अपनी मर्जी से जीवन जीने का अधिकार उसके पास है। वह अपने क्षेत्र में मौजूद हैं और जनता के लिए काम कर रहे हैं।