1. हिन्दी समाचार
  2. एस्ट्रोलोजी
  3. Basant Panchami 2022 : विद्या,वाणी की देवी मां सरस्वती की इस दिन होगी पूजा, जानें शुभ मुहूर्त

Basant Panchami 2022 : विद्या,वाणी की देवी मां सरस्वती की इस दिन होगी पूजा, जानें शुभ मुहूर्त

वसंत को ऋतुराज कहा जाता है। प्राचीन काल से ही बसंत आने उत्सव मनाया जाता है। भारत वर्ष में ठंड की विदाई और गर्मी  के मौसम के आगमन का यह समय होता है।

By अनूप कुमार 
Updated Date

Basant Panchami 2022: वसंत को ऋतुराज कहा जाता है। प्राचीन काल से ही बसंत आने उत्सव मनाया जाता है। भारत वर्ष में ठंड की विदाई और गर्मी  के मौसम के आगमन का यह समय होता है। इस ऋतु में पेड़ पौधे  पुराने पत्तों को छोड़ कर नये पत्ते धारण करते है। इस समय मौसम में फसलों और फूलों की सुगंध वातावरण को सम्मोहित कर लेती है। हर तरफ पीले रंग की बहार फैली रहती है। हिंदू पंचांग के अनुसार यह समय ऐसा समय होता है जब मौसम माघ मास से फाल्गुन की ओर धीरे धीरे बढ़ने लगता है।

पढ़ें :- सीता नवमी 2022: देखिये तिथि, समय, शुभ मुहूर्त और जानकी नवमी का महत्व

ऐसे आनन्ददायी मौसम  में विद्या,वाणी की देवी मां सरस्वती की पूरे धूमधाम से पूजा अर्चना की जाती है।विद्यार्थी ,कलाकार और तपस्वी इस दिन मां सरस्वती पूजा पीले पुष्प मां को अर्पित करके करते है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, इस दिन पीले वस्त्र पहन कर देवी की आराधना करने का विधान है।

माघ मास के शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि
प्रारंभ 05 फरवरी यानी शनिवार को प्रातः: 03:47 बजे से  रविवार को प्रातः: 03:46 बजे तक
पूजन का मुहूर्त सुबह 07:07 बजे से लेकर दोपहर 12:35 तक
सिद्ध योग शाम 05 बजकर 42 मिनट तक

ॐ ऐं सरस्वत्यै ऐं नमः

ॐ ऐं ह्रीं क्लीं महासरस्वती देव्यै नमः

पढ़ें :- Vaishakh Purnima 2022 : वैशाख पूर्णिमा इस दिन है, जानें शुभ मुहूर्त और पूजा विधि

ॐ हृीं ऐं हृीं ओम् सरस्वत्यै नमः

ॐ ऐं ह्रीं श्रीं वीणा पुस्तक धारिणीम् मम् भय निवारय निवारय अभयम् देहि देहि स्वाहा।

ऐं नमः भगवति वद वद वाग्देवि स्वाहा।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...