1. हिन्दी समाचार
  2. जाने कुलभूषण जाधव से पहले कितने हिंदुस्तानियों को जासूसी के फर्जी आरोप में फंसा चुका है पाकिस्ताान

जाने कुलभूषण जाधव से पहले कितने हिंदुस्तानियों को जासूसी के फर्जी आरोप में फंसा चुका है पाकिस्ताान

Before Kulbhushan Jadhav These Indians Have Been Trapped By Pakistan

By आस्था सिंह 
Updated Date

नई दिल्ली। कुलभूषण जाधव मामले में भारत को इंटरनैशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस (ICJ) की ओर से बड़ी कामयाबी मिली है वहीं पाकिस्तान का झूठ पूरी दुनिया के सामने बेनकाब हो चुका है। ऐसा पहली बार नहीं हुआ है जब पाकिस्तानियों ने किसी भारतीय को अपने चंगुल में फसाया हो इससे पहले भी कई ऐसे मामले सामने आ चुके हैं। आइये जानते है कि पाकिस्तान की जेल में बंद भारतीय नौसेना के पूर्व अधिकारी कुलभूषण जाधव से पहले किन भारतीयों पर जासूसी का फर्जी आरोप साबित करने का हथकंडा अपना चुका है….

पढ़ें :- आतंकियों को पनाह देने वाले पाकिस्तान को बड़ा झटका, FATF ने ग्रे लिस्ट में रखा बरकरार

पाकिस्तान की जेल में बंद रह चुके हैं ये भारतीय

कुलभूषण जाधव

पाकिस्तान के जेल में बंद कुलभूषण जाधव को बचाने में जुटी भारत सरकार ने बड़ी सफलता हासिल कर ली है।
अंतरराष्ट्रीय न्यायालय (आइसीजे) ने भारत सरकार के आग्रह को स्वीकार करते हुए पाकिस्तान की ‘ सैन्य कोर्ट’ की तरफ से जाधव को दी गई फांसी की सजा पर फिलहाल रोक लगा दी है और आदेश दिया है कि भारतीय राजनायिकों को जाधव से मिलने की इजाजत (काउंसिलर एक्सेस) दी जाए।

सरबजीत सिंह

पढ़ें :- महबूबा मुफ्ती ने आर्टिकल 370 वाले बयान को लेकर पीएम मोदी पर साधा निशाना, कहा-उनके पास कुछ बताने के लिए नहीं...

  • पंजाब के तरणतारण जिले के सरबजीत पर 1990 में पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में बम धमाकों में शामिल होने का आरोप लगा।
  • वह धमाकों के दौरान गलती से सीमा पार कर पाकिस्तान चले गए थे। वहां उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया।
    लाहौर हाईकोर्ट ने 1991 में उन्हें इस मामले में मौत की सजा सुनाई।
  • भारत उनकी रिहाई की लगातार मांग करता रहा वहीं 2013 में लाहौर जेल में कैदियों से उनका झगड़ा हुआ। जिसमें वह बुरी तरह घायल हुए जिसके बाद उनकी मौत हो गई।

किशोर भगवान

  • फरवरी 2014 को भारतीय मछुआरे किशोर भगवान की पाकिस्तानी जेल में मौत की खबर आई।
  • किशोर पर बिना किसी दस्तावेज पाकिस्तान के आर्थिक क्षेत्र में घुसने का आरोप लगाया गया।
  • पाकिस्तान की समुद्री सुरक्षा एजेंसी ने उन्हें गिरफ्तार किया।
  • 2013 में किशोर ने वहां जेल से भागने की भी कोशिश की पर पकड़े गए। उसके बाद अज्ञात कारणों के चलते जेल में उनकी मौत हो गई।

किरपाल सिंह

  • पंजाब के गुरदासपुर के किरपाल सिंह 1992 में गलती से पाकिस्तान की सीमा में दाखिल हुए।
  • उनपर पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में बम धमाका करने के आरोप में मुकदमा चला।
    25 वर्षों तक वह जेल में रहे।
  • लाहौर हाईकोर्ट ने इस मामले में उन्हें बरी कर दिया इसके बावजूद पाकिस्तान ने उन्हें आजाद नहीं किया।
  • अज्ञात कारणों से लाहौर जेल में उनकी मौत हो गई।

चमेल सिंह

  • जम्मू जिले के चमेल सिंह को पाकिस्तानी सेना ने 2008 में जासूसी करने का आरोप में गिरफ्तार किया।
  • उनके परिवार के मुताबिक खेतों में काम करने के दौरान उन्होंने गलती से सीमा पार कर ली थी।
  • 2013 में लाहौर की जेल में पुलिसवालों की पिटाई से उनकी जान चली गई।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...