गर्भावस्था में रोज खाएं जीरा, नहीं होंगी ये परेशानियां

Cumin seeds scattered on table

हम सबके घरों में जीरा मसाले के डिब्बे का बेताज बादशाह होता है. क्या आप जानते हैं कि जीरा खाने का स्वाद ही नहीं बढ़ाता, सेहत के लिए भी ये उतना ही फायदेमंद है. जीरे में एंटीऑक्सीडेंट और विटामिन ‘सी’ व ‘ए’ की मात्रा अधिक होती है, यही कारण है कि महिलाएं अगर प्रेगनेंसी के दौरान नियमित रूप से जीरे का पानी पिएं तो गर्भावस्था समूदली निकलती है. हालांकि इसे अपने रुटीन में शामिल करने से पहले एक बार अपनी डॉक्टर से बात कर लें.

ऐसे बनाएं जीरे वाला पानी :
कितनी भी मात्रा में जीरा लेकर उसे किसी भी मात्रा में पानी के साथ उबालकर पीने से उतना फायदा नहीं होता है. हम आपके साथ शेयर कर रहे हैं जीरा पानी तैयार करने का सही तरीका. इसके लिए एक बड़ा चम्मच जीरा एक लीटर पानी में उबाल लें. लगभग 2 मिनट उबलने दें. ठंडा होने पर किसी कांच के गिलास या कंटेनर में भरकर रखें और दिनभर छोटी-छोटी सिप लेते रहें.

गर्भावस्था के दौरान फायदे :
गर्भवती और उसके अजन्मे बच्चे दोनों ही की सेहत के लिए जीरे का पानी अच्छा होता है. इससे मॉर्निंग सिकनेस में भी काफी राहत मिलती है. शरीर में पानी की मात्रा बनी रहती है.गर्भावस्था कै दौरान पेट में गैस बनना और एसिडिटी आम बात है. जीरे का पानी इन समस्याओं को कम करता है, जिससे खाना-पीना आसान हो जाता है.

जीरे का पानी ब्लडप्रेशर नियंत्रित करता है. पूरे नौ महीने अगर आप नियमित रूप से ये पानी पिएंगी तो रक्तचाप बढ़ने-घटने जैसी समस्या कम ही होगी.गर्भ के दौरान महिलाओं को अक्सर खून की कमी हो जाती है और उनका हीमोग्लोबिन भी कम हो जाता है. ऐसे में जीरे वाला पानी पीना उनके लिए फायदेमंद होता है. क्योंकि जीरे में भरपूर आयरन होता है.