गुणों की खान है सीताफल, खाएंगे तभी तो जानेंगे

लखनऊ: सीताफल इतने गुणों से भरपूर है कि शायद ही शरीर का कोई हिस्सा ऐसा हो जिसे यह फायदा न पहुंचाता हो। सीताफल स्वाद मे मीठा होता है और दिखने में एक दिल के आकार का होता है। यह बाहर से सख़्त और अंदर से नरम और चबाने वाला होता है। सीताफल खाने के स्वास्थ संबंधी बहुत फायदे हैं। इसमें कैल्शिम और फाइबर जैसे न्यूट्रिएंट्स भरपूर मात्रा में होते है, जो आर्थराइटिस और कब्ज जैसी हेल्थ प्रॉब्लम से निजात देने में मददगार होते है। इसके पेड़ की छाल का इस्तेमाल दवाइयों को बनाने के लिए किया जाता है।




* अगर आपको वजन बढ़ाना है तो सीताफल जरूर खाइये क्योंकि सीताफल में वजन बढ़ाने कि क्षमता भरपूर होती है।
* सीताफल में प्राकृतिक एंटीऑक्सीडेंट विटामिन सी बहुत अधिक मात्रा में पाया जाता है। विटामिन सी में शरीर की रोगों से लड़ने वाली शक्ति यानी इम्युन सिस्टम को बढ़ाने की क्षमता होती है इसलिए इसका सेवन आज से ही शुरू कर दें।
* सीताफल खाने से आपकी दृष्टि और आपकी त्वचा के साथ साथ बाल भी अच्छे हो जायेंगे क्योंकि इसमें विटामिन आ भी भरपूर मात्रा में पाया जाता है।
* हृदय संबंधी बिमारी के लिए भी ये बहुत अच्छा होता है क्योंकि इसमे पर्याप्त मात्रा में मैग्नीसियम होता है और जो ह्रदय और मांसपेशियों के दर्द दोनों के लिए रामबाड़ है।
* सीताफल बहुत ही अच्छा एनर्जी का स्रोत होता है। अगर आप अक्सर कमजोरी महसूस करते है तो इसका सेवन जरूर करें।
* सीताफल को धूप में सुखाकर चूर्ण बनाकर इसका सेवन करने से पेचिश और दस्त ठीक हो सकते है।
* खून की कमी यानी एनीमिया से बचना अब बिलकुल आसान है। सीताफल का हर दिन इस्तेमाल खून की अल्पता को खत्म कर देता है और उल्टियों के प्रभाव को भी कम करता है।




* सीताफल गर्भ में पल रहे भ्रूण के मस्तिष्क, स्नायुओं की प्रणाली और प्रतिरोधक प्रणाली के विकास में मदद करता है। गर्भावस्था के दौरान सीताफल का रोज़ाना सेवन करने से गर्भपात की सम्भावना काफी कम होती है और बच्चे के जन्म के दौरान लेबर का दर्द भी अपेक्षाकृत कम होता है। कई लोग इसे गर्भावस्था के समय का चमत्कारी फल कहते हैं जो मॉर्निंग सिकनेस, मतली, चिड़चिड़ेपन और स्वभाव में अचानक परिवर्तन की समस्या से लड़ने में सहायक होता है। सीताफल बच्चे के जन्म के बाद माँ के स्तनों में दूध का अधिक उत्पादन करने में भी सक्षम साबित होता है।
* इस फल में विटामिन बी होता है, जो डिप्रैशन की परेशानी को दूर करता है।

आस्था सिंह की रिपोर्ट



Loading...